X, Y Z या Z प्लस सिक्योरिटी आखिर क्या है और किसे मिलती है इन श्रेणियों की सुरक्षा, पढ़िए

शेयर करें

देश में किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति या फिर किसी बड़े नेता को जान का खतरा हो तो उसे सुरक्षा मुहैया कराई जाती हैं।

ये सुरक्षा मुख्य रूप से कैबिनेट मंत्री, राज्यों के मुख्य मंत्री, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के जज, प्रमुख राजनीतिज्ञ और वरिष्ठ नौकरशाहों को ये सुरक्षा मिली हैं।

यदि खतरे की पुष्टि होती है तो सुरक्षा मुहैया कराई जाती है। अगर गृह सचिव, महानिदेशक और मुख्य सचिव की समिति यह तय करती है कि संबंधित व्यक्ति को किस श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए।

क्या होती हैं सुरक्षा श्रेणियां?

जेड प्लस श्रेणी:

इसके तहत 36 जवानों को सुरक्षा में लगाया जाता है, जिसमें 10 से अधिक एनएसजी कमांडो और पुलिस अधिकारी शामिल होते हैं। अधिकतर नेता इस सुरक्षा घेरे की जुगत में लगे रहते हैं।

जेड श्रेणी:

इस श्रेणी में 22 जवान सुरक्षा मुहैया कराते हैं, जिसमें 5 एनएसजी कमांडो के साथ पुलिस अधिकारी होते हैं।

वाई श्रेणी:

इसमें संबंधित व्यक्ति को 11 जवानों का सुरक्षा कवच मिलता है, जिसमें 1 या 2 एनएसजी कमांड और पुलिसकर्मी शामिल होते हैं।

एक्स श्रेणी:

5 या 2 जवानों वाले इस सुरक्षा कवच में केवल सशस्त्र जवान ही शामिल होते हैं।

इन एजेंसियों पर होता है इन सुरक्षा श्रेणियों का जिम्मा

-स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी)
-नेशनल सिक्युरिटी गार्ड (एनएसजी)
-भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी)
-सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ)
-दिल्ली पुलिस

इन राजनेताओं को मिली है जेड प्लस सुरक्षा

प्रधानमंत्री की सुरक्षा का जिम्मा स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी एसपीजी उठाती है। प्रधानमंत्री के सुरक्षा दस्ते में एसपीजी के अलावा एनएसजी अधिकारी भी होते हैं।
पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिजनों को भी यह सुरक्षा मिलती है, लेकिन केवल 1 साल के लिए। हालांकि कुछ विशेष कानूनी प्रावधानों के जरिए यह सुविधा राजीव गांधी के परिवार यानी उनकी पत्नी सोनिया गांधी, उनके बेटे राहुल गाँधी और उनकी प्रियंका गाँधी को को अनिश्चितकाल के लिए दी गई है।

14 नेताओं की सुरक्षा में तैनात हैं 551 एनएसजी कमांडो 

आपको बता दें की देश के चौदह राजनेताओं को वीवीआईपी सुरक्षा दी गई है। इनकी सुरक्षा में तैनात हैं एनएसजी ने अपने 551 एलीट के कमांडो। ये कमांडो देश के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, मुलायम सिंह यादव, मायावती के साथ साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित 14 लोगों को इस समय सुरक्षा प्रदान कर रहे हैं।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े