कांग्रेसी सांसद विवेक तनखा ने जिस कारण से vvip सुरक्षा छोड़ दी वो आपका दिल जीत लेगा

जब हम भारत का या फिर किसी भी लोकतान्त्रिक देश का संविधान या राजीनितिशास्त्र पढ़ते हैं तो हम देखते हैं कि मंत्री या कोई भी राजनेता जनता द्वारा जनता की सेवा करने के लिए चुना जाता है लेकिन होता हमेशा इसके उल्टा है ! नेता जनता के बीच ऐसे व्यव्हार करते हैं कि वो इनके माईबाप हो !

हर जगह ये खुद को ख़ास बताने में लगे रहते हैं

भारत के राजनेताओ में ये बड़ी गन्दी आदत होती है कि ये जिस भी जगह जाएँ इन्हें स्पेशल ट्रीटमेंट लगता है ! फिर चाहे उसके लिए आम जनता को घंटों जाम में फसा रहना पड़े या फिर किसी भी प्रकार की दिक्कत हो पर इनका रुतबा और रुआब कम नही होता ! वो मंदिर हो,अस्पताल हो,एअरपोर्ट हो या कोई पब्लिक प्लेस हो जहाँ हम इन्हें सुलभ देख सकते हैं वहां हम इनके लिए आराम से बड़ा भव्य झांकी देख सकते हैं !

ऐसा नहीं है कि सिर्फ कुछ लोग ऐसा चाहते हैं बल्कि राष्ट्रपति से लेकर एक क्लर्क तक सब ऐसी आम जगहों पर जनता के बीच स्पेशल ट्रीटमेंट चाहते हैं फिर वो भले ही जनता को परेशानी देकर हो !

इस कांग्रेसी सांसद ने जीत लिया सबका दिल

ऐसा भी नहीं है कि सब राजनेता एक जैसे होते हैं ! इनमे कुछ अच्छे और जनता की सेवा करने वाले भी होते हैं जो बाहरी दिखाबे से पूरी तरह दूर रहते हैं ! ऐसे नेता पब्लिक के बीच vip ट्रीटमेंट को पसंद नहीं करते हैं ! इनकी सोच बड़ी अच्छी होती है कि हम और जनता एक ही हैं और ऐसे लोग ही देश का विकास करते हैं !!

ऐसे ही लोगों में कांग्रेस के एक सांसद का नाम आता है जिन्होंने ऐसा करके जनता का दिल जीत लिया ! इनका नाम विवेक तनखा होता है जिन्होंने एयरलाइन कम्पनी द्वारा दिए जाने वाले vvip ट्रीटमेंट को ठुकरा दिया ! उन्होंने स्पाइसजेट को कहा कि जो vvip ट्रीटमेंट उनकी कम्पनी द्वारा उन्हें दिया गया उसने उन्हें बड़ा असहज महसूस कराया !

कौन है ये विवेक

विवेक राजनीती में कांग्रेस के खेमे में से आते हैं और विवेक कांग्रेस की तरफ से नये चुने गये राज्यसभा सदस्य हैं ! विवेक ने स्पाइसजेट के लीडरशिप को एक खत लिखते हुए कहा कि नेताओ को इस तरह का दिया जाने वाला ट्रीटमेंट सही नहीं है और ये उन्हें बड़ा असहज महसूस कराता है ! उन्होंने कहा कि स्पेशल ट्रीटमेंट बंद होना चाहिए !

देखिये वीडियो:-

 

source-http://viralinindia.net/congress/congress-mp-vivek-tankha-rejected-vvip-security-public-welfare/10228/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें