अभी-अभी : 150 सरपंचो के साथ कांग्रेस में शामिल हुई ये दिग्गज नेता, बीजेपी में कोहराम

शेयर करें

साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मध्य प्रदेश राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव बीजेपी और कांग्रेस के लिए एक ट्रायल के तौर पर देखे जा रहे हैं। जिसके लिए दोनों ही राजनीतिक दल जी तोड़ कोशिश कर रहे हैं।

1. मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी का जीतना मुश्किल

माना जा रहा है कि जनता ने इस विधानसभा चुनाव में जिस पार्टी के पक्ष में फैसला सुनाएगी। वही पार्टी लोकसभा में भी जीत हासिल करेगी। लेकिन इस बार इन विधानसभा चुनाव में बीजेपी का जीतना काफी मुश्किल नज़र आ रहा है।

2. जमकर हो रहा शिवराज सिंह का विरोध

बात करें बीजेपी शासित मध्य प्रदेश की तो यहां की जनता बीजेपी को पूरी तरह से नकार चुकी है। जिसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा निकाली जा रही जन आशीर्वाद यात्रा पर लोगों का गुस्सा फूट फूट कर निकल रहा है।

3. युवाओं के लिए कांग्रेस बन रही पहली पसंद

वही बात करें कांग्रेस की तो राज्य में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से प्रभावित होकर अन्य राजनीतिक दलों के नेता भी कांग्रेस को जॉइन करने की इच्छा जाहिर कर रहे हैं। जिसका फायदा विधानसभा के साथ लोकसभा चुनाव में भी मिलेगा।

4. कांग्रेस में शामिल समर्थकों समेत शामिल हुई महिला नेता

खबर सामने आई है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ की अगुवाई में मध्य प्रदेश की सबसे कम उम्र की सरपंच कुमारी मोना कौरव ने अपने 150 सरपंचों और 100 से ज्यादा युवा साथियों के साथ पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है।

5. कमलनाथ और राहुल गाँधी की जोड़ी में है दम

इससे पहले भी बसपा के दिग्गज नेता देवाशीष जरा रिया ने कांग्रेस का हाथ आम ने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बसपा के एक साथ आने के आसार भी बन रहे हैं। लेकिन अभी तक इस पर कोई अधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है।

निष्कर्ष: कांग्रेस मध्यप्रदेश में जिस तरह से मजबूती पकड़ रही है। उससे लगता है की इस बार पार्टी राज्य में बहुमत से दस्तक देगी।


शेयर करें