राहुल गांधी के काले बैग का क्या रहस्य है ?

शेयर करें

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी में आजकल गजब की सक्रियता देखी जा रही है। गुजरात और कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जबरदस्त उत्साह के साथ मैदान ए जंग में उतरकर अपने जुझारू तेवर से देश और दुनिया को अवगत करवाया।

 

कर्नाटक में उन्होंने जहां अपनी सूझ बूझ से भाजपा को सत्ता से बाहर कर दिया तो वहीं गुजरात में नरेन्द्र मोदी और अमित शाह के 150 के मिशन को 99 पर समेट कर रख दिया।

अपना लगेज खुद लेकर चलते हैं

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का जन्म देश के सबसे बड़े राजनीतिक घराने में हुआ है लेकिन अहंकार उनसे कोसों दूर रहता है। आज भी उनके मन में आम आदमी को लेकर पीड़ा और दर्द रहता है।

अपनी सरकार के वक़्त भी उन्होंने आम आदमी की लड़ाई को कभी नहीं छोड़ा । राहुल गांधी में इतनी सादगी है कि वो अपना लगेज़ खुद ही लेकर यात्रा करते हैं, जबकि वो चाहे तो इस कार्य के लिए उनके सहयोगियों की कोई कमी नहीं हो सकती।

 साथ रखते हैं हमेशा काला बैग

 

राहुल गांधी की यात्राओं की तस्वीरें अक्सर मीडिया की सुर्खियों में रहती है। उनके पास हमेशा एक काला हैंड बैग होता है, जिसे वो हमेशा अपने एक कंधे से टांगे रखते हैं। राहुल के चाहने वालों के लिए ये बैग कौतूहल का विषय होता है। सब जानना चाहते हैं कि आखिर राहुल इसमें रखते क्या हैं !

इस काले बैग में रहता क्या है ?

 

आज हम इस रहस्य से पर्दा उठाते हैं कि आखिर क्या खूबी है इस काले बैग में जो राहुल हमेशा अपने साथ रखते हैं। राहुल के करीबियों ने इस बैग के रहस्य से पर्दा हटाते हुए कहा कि राहुल इस बैग में मोबाइल चार्जर, अपनी डायरी, पेन, नैपकिन और कुछ स्नैक्स रखते हैं, जो सफर में उनके काम आता है।

4. दूसरे लोग सिक्योरिटी से करवाते हैं

 

आपने देश के किसी विधायक को भी अपना लगेज़ खुद से उठा कर चलते हुए नहीं देखा होगा। इसकी मूल वजह उनका अपना श्रेष्ठता का भाव होता है। वो खुद को आम लोगों से थोड़ा अलग समझते हैं। उनके लगेज़ उठाने का काम सुरक्षाकर्मी करते हैं, हालांकि सुरक्षाकर्मियों की ये ड्यूटी नहीं होती, राहुल इस बात का खास ख्याल रखते हैं।

5. राहुल की अपनी खासियत

राहुल गांधी की इस सादगी के कायल दुनिया भर के लोग है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़े नेताओं जैसे डेविड कैमरन, बराक ओबामा, कॉलिन पॉवेल, टोनी ब्लेयर की सादगी की खूब चर्चा होती है। राहुल गांधी ने भी खुद को इन नेताओं की श्रेणी में शामिल कर देश का गौरव बढ़ाया है।

निष्कर्ष :

राहुल गांधी की अपनी अलग राजनीतिक शैली है। जन्म की श्रेष्ठता को वह स्वयं पर हावी होने नहीं देते,आज के राजनीतिक माहौल में यह बहुत बड़ी बात है।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े