राहुल गाँधी ने धर्म को लेकर बोली ऐसी बात कि भाजपा वाले हो गये हैरान

इस देश में धर्म के नाम पर राजनीती होना अब आम बात हो गया है | यहाँ पर राजनीती वाले खासतौर पर धर्म को पाकीजा चीज से इतर आपस में लोगों की भावनाओं को भड़काने के लिए इस्तेमाल करके अपना राजनीतिक फायदा करते हैं और देश की शांति को भंग करके लोगों के बीच की भाईचारे की भावना और सर्वधर्म समभाव को खत्म करने का काम करते हैं | ऐसे में देश की अखंडता खंड खंड होते हुए साफ़ तौर पर देखी जा सकती है |

भाजपा वालों ने इस मामले में कुछ ज्यादा ही काम किया हुआ है | जब देखो ये धर्म के नाम पर नफरत फैलाते हुए  नजर आते हैं फिर वो चाहे भाजपा के स्टार प्रचारक और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ हों या फिर आरएसएस के लोग हों |

ये सब के सब ऐसे ऐसे ब्यान देते हैं कि उनसे देश में अशांति का माहौल कायम होता है और देश एक अजीब ही प्रकार की नफरत की आग में जलने लगता है |

राहुल ने बोला भाजपा पर हमला

अभी राहुल गाँधी ने इस संदर्भ में स्टैंड लेते हुए भाजपा पर हमला बोला है और ये हमला उन्होंने सोमनाथ मंदिर में रजिस्टर में तथाकथित तौर पर गैर हिन्दुओं के लिए निर्धारित रजिस्टर में नाम लिखने को लेकर जो विवाद पैदा हुआ है उस पर बोला है |

राहुल गाँधी गुरुवार के दिन गुजरात के अमरेली में व्यापारियों के संगठन को संबोधित कर रहे थे और यहाँ पर उन्होंने कहा कि धर्म को लेकर किसी को भी किसी भी प्रकार के कोई भी प्रमाण पत्र की कोई आवश्यकता नहीं है |

राहुल ने कहा कि धर्म की दलाली नहीं होनी चाहिए

राहुल गाँधी ने कहा कि हम लोग धर्म की दलाली नहीं करते हैं | मेरी दादी और पूरा का पूरा परिवार शिव में आस्था रखने वाले शिवभक्त हैं | हम धर्म का इस्तेमाल राजनीती में होने वाले फायदे के लिए कतई नहीं करते हैं |राहुल का कहना था कि धर्म किसी भी व्यक्ति का व्यक्तिगत मामला है  और इसकी दलाली नहीं की जाती है |

राहुल ने आरोप लगाया कि भाजपा के कुछ लोगों ने सोमनाथ मंदिर के रजिस्टर में गैर हिन्दुओ वाले रजिस्टर में उनका नाम लिखवा दिया है और इसी वजह से विवाद हुआ |

नेहरू और सरदार पटेल के बारे में भी बोले

राहुल का कहना था कि सोमनाथ मंदिर की आने वाली पुस्तिका में उन्होंने दस्तखत किये थे लेकिन दुसरे रजिस्टर में भाजपा वालों ने उनका नाम लिख दिया | सरदार पटेल और नेहरू के सम्बन्ध के बारे में उन्होंने कहा कि हालाँकि दोनों में कुछ राजनैतिक मतभेद थे लेकिन इसके बावजूद भी दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे | दोनों साथ में जेल गये लेकिन कुछ राजनीती के चक्कर में ये प्रचार कर रहे हैं कि दोनों दुश्मन थे |

कांग्रेस के गुजरात अध्यक्ष भी इस मामले में आये सामने

इसी विवाद में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी सामने आये और उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी की सोमनाथ की यात्रा के पीछे जो भी विवाद हुआ है उसके पीछे अमित शाह हो सकते हैं | उन्होंने कहा कि शाह सोमनाथ मंदिर के ट्रस्टी भी है और वो क्या कुछ कर सकते हैं वो सबको मालूम ही है |हालाँकि भाजपा ने सोलंकी के इन आरोपों को सरे से नकार दिया है |

देखिये वीडियो:-

Source-http://janpost.whatthebeep.in/we-do-not-use-religion-for-political-benefit/

 

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें