शेयर करें

इस साल बीजेपी शासित मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य का दौरा किया था।

राहुल ने मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर राज्य में मारे गए किसानों के परिवारों से मुलाकात की थी।

हाल ही में 6 जून को राहुल गाँधी में राज्य के किसानों को सम्बोधित करते हुए एक रैली का आयोजन किया था जिसे किसान समृद्धि संकल्प रैली का नाम दिया था।

इस दौरान राहुल गांधी का भाषण सुनने के लिए किसानों व आम जन की भी अच्छी खासी भीड़ देखने को मिली।

राहुल की इस रैली में काफी भावुक पल देखने को नज़र आये जब किसानों से मिलने पहुंचे राहुल को देखकर उनकी अंदर भरी भावनाएं उमड़ पड़ी।

राहुल  से मिलकर किसान हुए भावुक

सोशल मीडिया अपर राहुल की लोगों को गले लगाए हुए तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं।

आपको बता दें कि मंदसौर में 6 जून 2017 को राज्य सरकार के खिलाफ किसानों द्वारा किया गया प्रदर्शन उग्र हो गया था।

इस दौरान पुलिस ने किसानों पर गोलीबारी की थी, जिसमे 6 किसानों की मौत हो गई थी।

राहुल गांधी की रैली में मध्य प्रदेश की राजनीति के मुख्य कांग्रेसी नेता कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई बड़े नेता भी मौजूद थे।

राज्य में कांग्रेस कि मजबूती का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता हैं की हाल ही में बड़ी संख्या में बीजेपी के नेताओं ने पार्टी छोड़कर कांग्रेस ज्वाइन की है। जिसके पीछे कांग्रेस नेता कमलनाथ की रणनीति मानी जा रही है।

किसानों पर 5 सेकंड भी नहीं बोल पाए मोदी


इस दौरान राहुल ने पीएम मोदी और राज्य की शिवराज सरकार पर हमला बोला। राहुल ने बीजेपी को किसान विरोधी सरकार करार दिया है।

राहुल ने कहा कि,

“मोदी जी से मैंने किसानों की आवाज सुनने को कहा। उनका जवाब सुनिए। वहां पर 30 सेकंड के लिए सन्नाटा छा गया, उन्होंने कोई जवाब ही नहीं दिया। नरेंद्र मोदी जी ने 5 शब्द भी नहीं कहे। बड़े-बड़े उद्योगपति आते हैं, घंटों भाषण चलता है, सूट-बूट में मीटिंग होती है। किसानों के लिए मोदी जी के पास एक शब्द नहीं है।”

कांग्रेस की प्राथमिकता जनता है

राहुल ने आने वाले विधानसभा चुनाव पर अपनी बात रखते हुए कहा कि,

“कांग्रेस के कार्यकर्ता पार्टी के लिए खून-पसीना बहाते हैं। इसलिए मेरी प्राथमिकता में पहले देश की जनता, फिर पार्टी के कार्यकर्ता और फिर पार्टी के नेता हैं।”

इस दौरान राहुल गांधी ने युवाओं और महिलाओं से खासतौर से कहा, जब भी कोई समस्या हो, आप कमलनाथ जी और सिंधिया जी से मिलें।

निष्कर्ष:

बीजेपी के राज में किसानों के साथ जिस तरह का बर्ताव हो रहा है, उसे बताने की जरूरत नहीं है।  बीजेपी ने देश के किसानों को धोखा दिया है।

अगर देश के अन्नदाता की परेशानियों को हल करना है तो बीजेपी को राज्य और केंद्र से हटाना जरूरी है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें