राहुल गाँधी ने जीता दिल, सड़क पर तड़प रहे युवक को दी नई ज़िन्दगी, पढ़ें

शेयर करें

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी एक दयालु हृदय और जरूरतमंदों लोगों की मदद करने के लिए जाने जाते हैं। राहुल गाँधी की दरियादिली अन्य नेताओं के लिए एक मिसाल है। वह मदद करके लाइम लाइट में आने से परहेज करते हैं। ऐसा ही एक मामला सामने आया, जब राहुल गाँधी अमेठी के दौरे से वापिस लौट रहे थे। इस दौरान उनकी नज़र एक युवक पर पड़ी। जो सड़क पर घायल पड़ा था और दर्द से तड़प रहा था।
उस युवक को देखकर राहुल ने तुरंत अपनी गाड़ियों का काफिला रुकवा दिया।

1. घायल युवक को देखकर राहुल गाँधी ने रुकवाई गाड़ी

राहुल गाँधी ने तुरंत घायल  युवक को अस्पताल पहुंचाने का इंतज़ाम किया। करीब पंद्रह मिनट तक राहुल सड़क पर खड़े रहे। राहुल गांधी ने कांग्रेस विधायक और प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह को युवक के इलाज की सारी जिम्मेदारी सौंपी। कांग्रेस नेता ने जख्मी युवक को एंबुलेंस से सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं राहुल गाँधी के साथ चल रहे कार्यकर्ताओं ने युवक के पास से मिले मोबाइल के जरिये उसके परिजनों को इस दुर्घटना की जानकारी दी।

2. इलाज के लिए पहुंचाया अस्पताल

कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह समेत अन्य लोग एम्बुलेंस से घायल को लेकर सिविल अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टरों की टीम ने उसका इलाज किया। देर रात जब परिवार वाले अस्पताल पहुंचे। तब अखिलेश प्रताप युवक को परिवार के हवाले सौंप वहां से गए। सिविल अस्पताल के अधीक्षक डा.आशुतोष दुबे ने बताया कि जय की हालत खतरे से बाहर है। पैर में फैक्चर होने के कारण उस पर प्लास्टर लगाया जायेगा।

निष्कर्ष: गौरतलब है कि अपनी सुरक्षा की परवाह किए बिना राहुल गाँधी जिस तरह से सड़क पर खड़े रह कर युवक के लिए एम्बुलेंस का इंतज़ार कर रहे थे। शायद ही कोई ओर नेता कर पाता।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े