बसपा के इस वरिष्ठ नेता ने थामा कांग्रेस को हाथ, सदमे में आई भाजपा और मायावती, पढ़ें

शेयर करें

मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान इस वक्त राज्य में सियासी घमासान मचा हुआ है। इस वक्त पार्टियों में नए गठजोड़ बनने और कई नेताओं के नई पार्टियां जॉइन करने और पुरानी छोड़ने के मामले सामने आ रहे हैं।

1. शिवराज सरकार को मिलेगा झटका

इस वक्त मध्यप्रदेश की बात करें तो कांग्रेस के ही जीतने के आसार नजर आ रहे हैं। क्योंकि जनता द्वारा बीजेपी के विरोध से साफ़ नजर आ रहा है कि इस बार शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री नहीं बनने वाले हैं।

2. मजबूती की तरफ कांग्रेस का जनाधार

आपको बता दें कि इस वक्त कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ पार्टी के लिए पर चढ़कर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। जिसके चलते हाल ही में पार्टी के कार्यकर्ताओं की संख्या भी बढ़ी है। इस तरह के संकेत मिल रहे हैं कि कांग्रेस राज्य में भारी अंतर् से जीतने वाली है।

3. कमलनाथ मध्यप्रदेश में संभाल रहे पार्टी कमान

इस बार मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेता कमलनाथ की अगुवाई में ही विधानसभा चुनाव लड़े जा रहे हैं। माना जा रहा है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की जीत के बाद उन्हें राज्य का मुख्यमंत्री भी बनाया जा सकता है। आपको बता दें कि कांग्रेस नेता कमलनाथ छिंदवाड़ा से लोकसभा सांसद हैं।

4. कांग्रेस में शामिल हुए बसपा के नेता

खबर सामने आई है कि बसपा के दिग्गज नेता देवाशीष जरारिया ने कमल नाथ की अगुवाई में कांग्रेस की सदस्य्ता ग्रहण कर ली है। आपको बता दें कि इस के लिए उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और कमलनाथ का शुक्रिया अदा भी किया है।

5. पार्टी को मिलेगा चुनाव में फायदा

माना जा रहा है कि इस युवा नेता के कांग्रेस में आने के बाद पार्टी को फायदा मिल सकता है। क्योंकि इस वक़्त युवा नेता पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी से काफी प्रभावित हो रहे हैं। जिससे कांग्रेस को आने वाले लोकसभा चुनाव में फायदा मिलेगा।

निष्कर्ष: आपको बता दें कि इस मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बसपा का गठबंधन हो सकता है।


शेयर करें