RELATED:अगर सुप्रीम कोर्ट ने ये विडियो देख लिया तोह...

विडियो का शीर्षक है ‘दिखावे पे मत जाओ’ जिसका सीधा सीधा सम्बन्ध उन लोगो से है जो मोदी और भाजपा के शब्दों के जाल में ही खुश रहते है | बोलने की कला से प्रभावित होकर लोग भले ही मोदी जी को वोट दे देते हो लेकिन बाद में उन्हें धोखे के सिवाय कुछ नहीं मिलता |

उदाहरण के तौर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु का सोशल मीडिया बहुत हवाइया उडाई गयी थी लेकिन अंत में वे विफल रहे बतौर रेल मंत्री | रेल हादसों ने उन्हें कुर्सी से उठने को मजबूर कर दिया |

क्या बताया गया है विडियो में?

ये बात सत्य है की कांग्रेस में अभी कुछ नेता वाक्पटुता को इतनी अहमियत नहीं देते जिस कारण लोग जुमलो पर यकीन कर मात खा जाते है | विडियो में बताया गया की कांग्रेस से जवाहर लाल नेहरु जिन्होंने बतौर प्रधानमत्री बनते ही देश को योजना आयोग के ज़रिये प्रगति की भेट दी |

सरदार वाल्लब भाई पटेल ने राज शाही खत्म करी | और वे लोग जो ये मानते है की बीजेपी की सह्शाखा आरएसएस ने देश को आज़ाद कराया उनके लिए शम्सुल इस्लाम की किताब ‘वी आर अवर नेशनहुड डिफाइंड – ए क्रिटिक’ से कुछ अंश |

शम्सुल इस्लाम अपनी किताब ‘वी आर अवर नेशनहुड डिफाइंड – ए क्रिटिक’ में कहते हैं कि ‘संघ का ऐसा एक भी प्रकाशन या दस्तावेज़ नहीं है जो भारत छोड़ो आंदोलन या उस समय चल रही आज़ादी की लड़ाई में संघ द्वारा किये गये अप्रत्यक्ष कामों पर कुछ प्रकाश डाल सके।

एक संगठन के तौर पर संघ ने ब्रिटिश साम्राज्यवादी शासन के खिलाफ या दमित भारतीय जनता के अधिकारों के लिये कोई संघर्ष नहीं छेड़ा, न ही संघ का उच्च नेतृत्व कभी भी आज़ादी की लड़ाई का हिस्सा रहा |

आज़ादी में नहीं था कोई योगदान

शम्सुल इस्लाम लिखते हैं कि गोलवरकर और संघ विदेशी शासन के ख़िलाफ़ किसी भी आंदोलन के प्रति अपना विरोध छिपा पाने में कभी भी सफल नहीं हुए।

यहां तक कि मार्च 1947 में भी जब ब्रिटिश शासक भारत छोड़कर चले जाने का फैसला कर चुके थे तब  दिल्ली में संघ के वार्षिक दिवस समारोह को संबोधित करते हुए गोलवलकर ने कहा कि संकुचित दृष्टि वाले नेता ब्रिटिश राज्यसत्ता के विरोध का प्रयास कर रहे हैं। इस बिन्दु को और विस्तारित करते हुए उन्होंने कहा कि देश की बुराईयों के लिये शक्तिशाली विदेशियों को दोषी ठहराना उचित नहीं |

देखिये वीडियो:-

--- ये खबर वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है वायरल इन इंडिया न्यूज़ पोर्टल के लिए

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े