अभी अभी- राहुल गांधी सारा काम छोड़ दिल्ली से पहुँचे लखनऊ

शेयर करें

इस समय देश की सियासत के माहौल को देखें, तो पिछले समय से बिल्कुल अलग यह समय बीजेपी के विरोध में नजर आ रहा है जहां देश की जनता से लेकर राज्य में चुनावी परिणाम तक बेहतर नतीजे नहीं मिल रहे हैं। इसके साथ ही आने वाले लोकसभा के चुनावों को देखते हुए भी पार्टी की चिंता बढ़ गई है।

आपको बता दें कि भाजपा के लिए एक जो सबसे बड़ी समस्या है वो यह कि राजनीति में इस समय कांग्रेस मजबूत स्थिति पर बनी हुई है इसके अलावा पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की सक्रियता से भी बीजेपी पर दबाव बना हुआ है। राहलु धी ने

सिर्फ 35 मिनट के लिए दिल्ली से लखनऊ आए राहुल गांधी

दरअसल राहुल गांधी इस भी हाल में कोई मौका अपने हाथ से नहीं विपक्षी पार्टी को नहीं देना चाहते हैं। इसलिए वो दिल्ली से लखनऊ सिर्फ 35 मिनट के लिए ही गए और फिर वापस आ गए। आपको बता दें कि राहुल गांधी लखनऊ गए लेकिन उनके 35 मिनट में ही वापस लौटने की खबर ने काफी सुर्ख़ियां बटोर ली।

सोचन वाली बात है कि आखिर ऐसी क्या इमरजेंसी थी कि राहुल गाँधी को कि दिल्ली छोड़ लखनऊ जाना पड़ा और फिर जल्दबाजी में वापस दिल्ली भी आना पड़े। अगर आपको भी इस बारे पूरी मिलेगी तो ही पता चल पाएगा कि वोट बैंक की राजनीति के चक्कर में राहुल गाँधी को यह कदम उठाना पड़ा है।

आखिर 35 मिनट के लिए ही क्यों जाना पड़ गया लखनऊ

दरअसल यह मामला किसानों की जमीन अधिग्रहण से जुड़ा हुआ है और खबर है कि उनके  सलाहकारों ने राय दी है कि ‘किसान बहुत परेशान हैं यहां और आपका आना बहुत जरूरी है और आपके आने से यहां वोट भी प्रभावित हो सकते हैं।’

बस राहुल गाँधी के लिए ये केवल एक वजह थी और वे दिल्ली से लखनऊ रवाना हो गए।

राहुल गाँधी लखनऊ एयरपोर्ट से सीधे गोमतीनगर स्थ‍ित नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के ऑफिस गए और वहां उन्होंने NHAI के रीजनल अफसर राजीव अग्रवाल से मुलाकात कर किसानों की समस्याओं पर बातचीत की।

NHAI के अफसर ने दी जानकारी

NHAI के अफसर राजीव अग्रवाल का कहना है कि, ‘राहुल गांधी किसानों के मसले पर मुलाकात करने आए थे और उन्होंने कहा कि “125 किलोमीटर के हाईवे में कुल 400 मीटर की सड़क और इसे बनाने में करीब 600 लोग प्रभावित हो रहे हैं। इसमें किसी का घर तो किसी का खेत और दुकान शामिल है, इस पर व‍चार कि‍या जाए।”

जानिए क्या है पूरा मामला

असल में नेशनल हाइवे अथॉरिटी जगदीशपुर के कठौरा में ट्रक लेन तैयार किया जा रहा है और इस लेन को बनाने में उत्तर प्रदेश स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (UPSIDC) की जमीन बीच में आ रही है। आपको बता दें कि UPSIDC ने यह जमीन किसानों को दी थी जिसमें करीब 50 किसान परिवार शामिल हैं।

अब मामला किसानों से जुड़ा होने के कारण कांग्रेस इस पर विरोध के मूड में हैं। यहां तक कि राज बब्बर खुद इस मसले पर धरना भी दे चुके हैं। उनकी मांग है कि ट्रक लेन को किसानों का ख्याल रखते हुए आधा किलोमीटर डायवर्ट करके पीछे से तैयार किया जाए।

Story Source : http://insistpost.com/25774/rahul-gandhi-in-lucknow-for-only-35-minute/


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े