नहीं रुक रही कांग्रेस की जीत, आजादी के बाद अब इस जगह भी एक तरफ़ा हुई कांग्रेस की बड़ी जीत

शेयर करें

नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री बनने से पहले जनता को दिया नारा, “अच्छे दिन आने वाले हैं” काफी छाया था। मोदी सरकार के 4 साल बाद जनता के अच्छे दिनों की गांरटी तो आज तक नहीं मिली, लेकिन विपक्षी पार्टी कांग्रेस के इससे अच्छे दिन जरुर आ गए हैं। आपको हमारी बात अगर समझ न आ रही हो तो पढ़े पूरी खबर।

एक के बाद एक कांग्रेस का बेहतरी प्रदर्शन

हाल ही के समय कांग्रेस पार्टी का ग्राफ देखें तो वह कई क्षेत्रों पर बेहतर प्रदर्शन करती नजर आ रही हैं। वहीं बात करें पार्टी के नए अध्यक्ष राहुल गांधी की तो उनके द्वारा पार्टी की कमान संभाले जाने के बाद से ही पार्टी में कुछ नया देखने को भी मिल रहा है।

वहीं जब से राहुल गांधी की राजनीतिक में सक्रियता बढ़ी है तो कई पार्टियों के नाराज हुए या फिर खुद ही निकाले गए नेताओं ने भी कांग्रेस की ओर अपना कदम बढ़ाया है जिसका फायदा सीधे रुप से कांग्रेस को मिला है।

इसके साथ राहुल गांधी की लोकप्रियता लोगों के बीच बढ़ी है। साथ ही देखें तो गुजरात विधानसभा के बाद से ही कांग्रेस पार्टी का कद कुछ ऊंचा हुआ है तो वहीं वह बीजेपी के लिए भी एक चुनौती साबित हुई है।

पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की बढ़ी लोकप्रियता

गुजरात विधानसभा चुनाव के बाद से देश के कई हिस्सों में हुए अलग अलग चुनावों के दौरान भी कांग्रेस का प्रदर्शन काफी बेहतरीन रहा है। वहीं इन सब में बीजेपी को लगातार हार मिली है।

खास बात यह है कि बीजेपी का गढ़ कहे जाने वाले मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस अपनी पकड़ मजबूत बना रही है और बीजेपी को यहां भी अपनी पार्टी के लिए निराशा ही हाथ लगी है।

कांग्रेस ने एक बार फिर दी बीजेपी को उसके ही गढ़ में मात

अभी हाल ही में हुए निगम चुनाव के दौरान भी बीजेपी का सूपड़ा से सफाया हो गया था और कांग्रेस  ने यहां अपनी जीत दर्ज की थी। इसके बाद ही मुंगावली के चुनावी नतीजे बीजेपी के लिए एक परेशानी खड़े कर देने वाले रहे।

इसके अलावा कर्नाटक चुनाव की ही बात करें तो बीजेपी की तमाम कोशिशों के बाद भी वह राज्य में अपनी सरकार नहीं बना पाई। और सत्ता जेडीएस व कांग्रेस की गठबंधन पार्टी को मिल गई।

उपचुनावों में कांग्रेस का शानदार प्रदर्शन

खास बात बता दें कि, आजादी के बाद कांग्रेस के वर्चस्व के दौर में पहले हुए चुनाव में हिंदू महासभा उम्मीदवार ने जीता था। वहीं, मोदी लहर के बीच कांग्रेस ने यहां अपनी जीत दर्ज की थी और यह अब यह उसका गढ़ बनता जा रहा है।

मध्य प्रदेश के बनने के बाद से ही 1957 में मुंगावली में हुए पहले चुनाव में हिंदू महासभा के खलक सिंह जीते थे। 2013 में मोदी लहर के बावजूद कांग्रेस के महेंद्र सिंह कालूखेड़ा को शानदार जीत मिली थी।

मोदी लहर को बड़ा झटका

मोदी लहर के बीच भी कांग्रेस का यह प्रदर्शन उसके लिए एक बड़ी परेशाी बनती जा रही है। इसके अलावा आज घोषित किए गए 4 लोकसभा व 10 विधानसभा की सीटों में भी बीजेपी को बड़ी शिकस्त मिली है। जो कि आने वाले लोकसभा चुनाव के लिहाज से उसके लिए बड़ी चिंता है।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े