अमित शाह और योगी की सभा में कुर्सियां रही खाली, कारण है हैरान कर देने वाला - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

अमित शाह और योगी की सभा में कुर्सियां रही खाली, कारण है हैरान कर देने वाला

अमित शाह और योगी की सभा में कुर्सियां रही खाली, भरने के लिए पुलिस वाले लोगों से कर रहे थे अनुरोध

हम लोग सुनते आ रहे हैं कि भारत में आधे से ज्यादा भाजपा की सरकार है। परंतु आपको आज जो खबर बताने वाले हैं उसे सुनने के बाद आप हैरान हो जाएंगे।

असल में भाजपा प्रेसिडेंट अमित शाह और यूपी के सीएम योगी ने वाराणसी में एक कार्यक्रम आयोजित किया था। उस कार्यक्रम में युवा को प्रोत्साहित करना था। परंतु खबर यह सामने आ रही है कि इस कार्यक्रम में बहुत ही ज्यादा कुर्सियां खाली देखी गई।

खबरों के हिसाब से पता चला है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी समेत पूर्वांचल में भी युवाओं को पार्टी से जुड़ने के लिए बीते दिन शनिवार को एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें सभी कि सभी कुर्सियों में से 70% कुर्सियां खाली देखी गई। जिसके बाद लोगों में एक चर्चा का विषय बन गया और लोग तरह-तरह की बातें करने लगे।

इस वजह से भाजपा सरकार है चिंतित

यह सब देखकर पार्टी की नेता के अलावा वहां की पुलिस भी चिंतित दिखाई दे रही है। वहां के प्रशासन भी गहरी सोच में डूब गए हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि जब दोनों राजनेता कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे तो उनकी आंखें खुली की खुली रह गई।

क्योंकि उस कार्यक्रम स्थल में आधी से ज्यादा कुर्सियां खाली थी। उसके बाद पुलिस ने जुगाड़ लगाकर जैसे तैसे वह कुर्सियां भरी। वहां पर जो समय निश्चित किया गया था वह समय 1:30 बजे का था। परंतु अमित शाह और योगी 2:30 बजे काशी विद्यापीठ पहुंचे यानी कि पूरे एक घंटा लेट वह लोग वहां पहुंचे।

हैरानी तो तब हुई जब अधिकारी ने यह निर्देश दिए की राह चलते लोगों को भी इस सभा में आने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। पुलिसकर्मी अधिकारी के निर्देश के अनुसार राह चलते लोगों को विनती कर रहे थे। कि वह इस सभा स्थल में आए।

यहां तक कि पुलिसकर्मियों को यह भी कहा गया कि जो लोग काले रंग की जैकेट और स्वेटर पहने हुए हैं उन्हें भी इस सभा स्थल में लेकर आओ।

20000 में से सिर्फ 7000 युवा ने लिया भाग

लोग यह अनुमान लगा रहे थे कि इस कार्यक्रम में 17 से 35 साल के 17000 युवा भाग ले सकते हैं। इस कार्यक्रम में करीबन 17 से 20000 युवा भाग लेंगे।

इस तरह का अनुमान वहां की पार्टी लगा रही थी। परंतु आपको जानकर और ज्यादा ताज्जुब लगेगा कि उस 17 से 20000 के बीच में सिर्फ 7000 युवा ही उस कार्यक्रम में आए थे। परंतु सूत्र कहते हैं कि यहां पर रजिस्ट्रेशन 12000 युवा का हुआ था।

भाजपा के 1 अध्यक्ष जो कि वहां के क्षेत्रीय अध्यक्ष थे उनका नाम है लक्ष्मण आचार्य। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा पहला डिजिटल कार्यक्रम बना। जिसमें ₹20 देकर युवा इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते थे। लक्ष्मण आचार्य ने यह भी कहा कि हमारी पार्टी उन पार्टियों में से नहीं हैं जो पैसा देकर भीड़ को इकट्ठा करती है।

एक भी युवती ने नही लिया भाग

इस कार्यक्रम में 7000 सिर्फ युवा ही मौजूद थे। किसी भी तरह की युवतियों और लड़कियों को इस कार्यक्रम में नहीं देखा गया। बल्कि 7000 युवाओं को भी ज्यादातर रिक्वेस्ट या फिर विनती करके ही इकट्ठा किया गया।

युवतियों और स्त्रियों का शामिल ना होने पर चिंता इसलिए जाहिर होती है। क्योंकि वहां के खुद पंचायत अध्यक,्ष बेसिक शिक्षा मंत्री नारी से जुड़े भाषण दे रहे थे और उस भाषण को सुनने के लिए कोई भी लड़की और युवती वहां पर नहीं थी।

Close