शेयर करें

जब से साल 2018 की शुरुआत हुई है इसके साथ ही राजनीति धरातल पर भी कई उतार चढ़ाव देखने को मिले हैं। जहां इस साल देश के कई राज्यों की विधानसभा के लिए चुनाव कराए जाने हैं उसके साथ ही इस साल को 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए भी काफी अहम माना जा रहा है।

सियासत में बदलाव के साथ कांग्रेस को मिल रहे बेहतर परिणाम

हालांकि केंद्र में 2014 में भारतीय जनता पार्टी ने अपनी सरकार बनाई थी लेकिन, 2014 के बाद से जिन भी राज्यों में चुनाव हुए हैं वहां भी पार्टी ने कोई न कोई दांव चलकर अपनी सत्ता हथियाने की पूरी कोशिश की है।

लेकिन दूसरी तरफ देखें तो अपनी लोकप्रियता के बीच भी बीजेपी को जिस तरह से लोगों से अब परिणाम मिलने शुरु हो गए हैं उसके लिए यह एक चिंताजनक स्थिति बनती जा रही है।

दूसरी तरफ मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस को देखें तो वह अपनी वापसी करती हुई नजर आ रही है, आम जनता के बीच भी लोगों ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को स्वीकारा है जिसके नतीजे कई राज्यों के उपचुनावों में देखने को मिले हैं।

एक बार फिर कांग्रेस ने दर्ज कराई अपनी जीत

जहां गुजरात चुनाव के समय कांग्रेस ने बीजेपी को जीत के लिए तरसा दिया वहीं अपने गजब का प्रदर्शन के साथ राजस्थान में हुए उपचुनावों में भी कांग्रेस ने पार्टी के लिए ऐतिहासिक जीत दर्ज की है।

कांग्रेस की इस जीत से पार्टी का मनोबल भी काफी बढ़ा है। इसी बीच ही पंजाब के लुधियाना नगर निगम चुनाव में भी कांग्रेस ने अपनी बंपर जीत से एक बार फिर लोगों का प्यार हासिल किया है।

साथ ही राजनीति पार्टियों को उसने बता दिया है कि अब जनता कांग्रेस के साथ है और उसे ही अपना समर्थन देगी।

कांग्रेस ने किया 62 वार्ड्स पर कब्जा

आपको बता दें कि लुधियाना नगर निगम चुनावों में कांग्रेस ने शानदार जीत दर्ज करते हुए बीजेपी की नींद उड़ा कर रख दी हैं।

कांग्रेस ने कुल 95 वार्ड्स में से 62 वार्ड्स पर शानदार कब्जे के साथ नगर निगम में पार्टी ने अपना डंका बजा दिया है।

इन चुनावों में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस ने जहां 62 वार्ड्स में जीत हासिल कर सबको हैरान कर दिया तो वहीं अकाली और बीजेपी महज 21 वार्ड्स अपने नाम करने में कामयाब रही।

बीजेपी और अकाली के खाते में केवल 21 वार्ड्स

अगर अकाली और बीजेपी के आंकड़े पर गौर करें तो इसमें अकाली दल ने 11 वहीं बीजेपी ने 10 वार्ड्स ही हासिल किए हैं।

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के हिस्से में केवल एक वार्ड ही आ पाया।

500 उम्मीदवार मौजूद थे चुनावी मैदाम में

आपको बता दें कि पंजाब के सबसे बड़े निगम के लिए मतदान जिसमें लुधियाना नगर निगम के कुल 95 वॉर्ड्स के लिए वोटिंग कराई गई थी।

इन चुनावों में करीब 500 उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत आजमाई थी।

पंजाब की जनता को पसंद आए नए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी

चुनाव आयोग के मुताबिक, इन चुनावों में करीब 60 फीसदी लोग वोट डालने आए थे।

इसके साथ ही बता दें कि नगर निगम के तहत राज्य में करीब 10 लाख 50 हजार वोटर रजिस्टर्ड हैं। जिसमें 5 लाख 67 हजार पुरुष, 4 लाख 28 हजार महिलाएं और 23 थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं।

जीत के बाद कांग्रेस में जश्न का माहौल

ऐसे में कांग्रेस को मिली जीत से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में बेहतरीन जोश व उत्साह देखने को मिल रहा है

सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता ढोल बजाकर अपनी जीत का जश्न मना रहे हैं।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें