शेयर करें

पिछले साल की सबसे बड़ी विवादित फिल्म पद्मावत जितने विवादों में रही अब रिलीजज होने के बाद बॉक्स ऑफिस पर उतना ही धमाल भी मजा रही है। पद्मावत ने पहले हफ्ते में ही 150 करोड़ रुपये कमा लिए हैं। गौरतलब है कि फिल्म के निर्माता और निर्देशकों को इस फिल्म के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी है। ताकि ये फिल्म पास हो सके और इसे रिलीज किया जा सके।

नाना पाटेकर ने तोड़ी चुप्पी

आपको बता दें कि बॉलीवुड के जाने मने अभिनेता नाना पाटेकर ने पद्मावत फिल्म के विवाद पर अपनी चुप्पी तोड़ी है और उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि संजय लीला भंसाली जो भी फिल्म बनाते हैं वो हमारे देश के इतिहास के ऊपर ही आधारित रहती है अगर हम उनकी पिछली फिल्मों की बात करे तो बाजीराव मस्तानी को ही ले लीजिए वो भी तो हमारे देश की संस्कृति पर ही आधारित है।

बिना दखें न लें कोई फैसला

उन्होंने आगे बोला कि आप किसी भी फिल्म को बिना देखे कोई भी फैसला नहीं ले सकते हां अगर आप ने फिल्म देखी है और आप को उसमें तब कुछ गलत लगता है तो आप कुछ कह सकते है ये कहना की पूरे भारत में पद्मावत नहीं चलेगी और कोई भी फिल्म नहीं देखेगा जो देखेगा वो मार खाएगा इन सब बातों का मैं विरोध करता हूं और सबसे ये बोलना चाहता हूं की देश में बिना वजह देश की शांति भंग न करें धन्यवाद।

संजय लीला भंसाली को सलाह

गौरतलब है कि नाना पाटेकर फिल्म के निर्देशक और निर्माता संजय लीला भंसाली को भी सलाह दी की वो इतिहास से जुड़ी फिल्मों को बनाने से परहेज करें। ऐसी फिल्मों से लोगों की भावनाएं आहत होती है। नाना पाटेकर ने कहा कि मैंने भी क्रांतिवीर जैसी फिल्में की है। उनमें तो बवाल नहीं हुए जो कि बहुत बोल्ड डायलॉग से भरी थी। लेकिन आप इतिहास को थोड़ा परहेज किजिए।

आपको बता दें कि एक मराठी फिल्म अपाल मानुष की स्क्रीनिंग के लिए नाना पाटेकर आए थे और कहा कि फिल्म को देखों और तब बताओं कि फिल्म कैसी है। कानून से बड़ा कोई नहीं हैं, आज भी कानून है, कल भी कानून ही सबसे बड़ा रहेगा।

source;http://www.thenationalive.com/nana-patekar-speak-about-padmavat-film-in-media/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें