जानिए कौन है गोरखपुर के शिव प्रताप शुक्ला जिनसे सीएम योगी को है बड़ा खतरा - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

जानिए कौन है गोरखपुर के शिव प्रताप शुक्ला जिनसे सीएम योगी को है बड़ा खतरा

इसी महीने की 11 मार्च को यूपी की दो महत्वपूर्ण लोकसभा सीटें फूलपुर और गोरखपुर में उपचुनाव होने हैं. ऐसे में बीजेपी ने दोनों ही सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारते हुए हर किसी को हैरान कर दिया है.

बीजेपी में नहीं है सब कुछ सही 

दरअसल, बीजेपी ने तीन दशकों में पहली बार गोरखपुर सीट से अपना कोई उम्मीदवार गोरखनाथ मंदिर से नहीं उतारकर जब गोरखपुर से उपेंद्र शुक्ला को और फूलपुर सीट से कौशलेंद्र सिंह पटेल को टिकट दिया तो पार्टी के अंदर से फुट की आवाज़ आने लगी.

सीएम योगी के करीबियों को नहीं दिया गया टिकट

खबर है कि गोरखपुर से सीएम योगी अपने करीबी नेता का टिकट दिलाना चाह रहे थे और फूलपुर से केशव प्रसाद मौर्या अपनी पत्नी के टिकट के इन्तेजार में थे लेकिन पार्टी आलाकमान ने दोनों की बात नकारते हुए जब अपने उम्मीदवार उतारे तो सियासत गरमा गई.

बीजेपी के सारे बड़े निर्णय ले रहे हैं प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह

सब जनते है कि इन दिनों बीजेपी के सारे बड़े निर्णय प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ही ले रहे हैं. ऐसे में इन दोनों के बारे में ये कहा जाता है कि वह एक हद तक ही किसी को बर्दाश्त करते हैं फिर चाहे वो उन्ही की पार्टी का कोई बड़ा नेता या मंत्री ही क्यों न हो. देर-सबेर वह खासकर अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी पर तरीके से नकेल कस ही देते हैं.

शिवप्रताप शुक्ला पड़े योगी पर भारी

ऐसे ही कुछ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ होता दिख रहा है. पहले योगी के पार्टी में धुर विरोधी माने जाने वाले शिव प्रताप शुक्ल को मोदी ने अपने कैबिनेट में शामिल कर योगी पर लगाम कसने की तैयारी की, जिससे योगी को बहुत बड़ा झटका मिला था.

योगी ने खत्म किया था शिवप्रताप का राजनीतिक कॅरियर लेकिन अब कैबिनेट में मिला ये अहम् स्थान 

राजनीति के जानकार ये भलीभांति जानते हैं कि गोरखपुर योगी का एकछत्र राज्य रहा है, जहाँ से ही उन्होंने शिव प्रताप शुक्ल का राजनीतिक कॅरियर करीब-करीब खत्म कर दिया था. लेकिन अब शिव प्रताप शुक्ल की मोदी की कैबिनेट में जाने से निश्चित ही उनका गोरखपुर व पूर्वांचल की राजनीति में कद बढ़ा गया.

योगी के करीबी को नहीं बल्कि शिवप्रताप के करीबी को दिया टिकट

ये झटका अभी योगी आदित्यनाथ सहन भी नहीं कर पाए थे कि अब जिस शिव प्रताप शुक्ला को योगी आदित्यनाथ विधायक व सांसद नही बनने देना चाहते थे, उसी शिवप्रताप के पसंदीदा उपेंद्र शुक्ला को बीजेपी ने गोरखपुर से टिकट देकर एक बार फिर पार्टी में उनका कद योगी आदित्यनाथ से ज्यादा बड़ा दिया है.

योगी से बीजेपी है नाखुश

दरअसल, योगी के मुख्यमंत्री बनते ही जिस प्रकार देश में योगी योगी प्रचार होने से मोदी पर्दे के पीछे चले गये थे, उस वक्त योगी भक्तों व मोदी विरोधियों को तो योगी आदित्यनाथ के अंदर अगले प्रधानमंत्री तक की छवि नज़र आने लगी थी.जबकि पार्टी के मापदंडों के अनुसार मुख्यमंत्री के रूप में उनका कार्य जो कि अब तक नही दिखा. इतने कम समय में बीजेपी का शायद ही कोई मुख्यमंत्री इतना अलोकप्रिय हुआ हो जितना योगी हुए.

निष्कर्ष

ऐसे में प्रधानमंत्री और अमित शाह द्वारा शिवप्रताप शुक्ला को इतनी अहमियत देना न केवल योगी आदित्यनाथ के लिए बुरा संकेत हैं बल्कि पार्टी में योगी से ज्यादा शुक्ला का बढ़ते कद का भी साबुत है.

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close