कांग्रेस ने अपने टिकिट पर उतारा आरएसएस के बड़े नेता को, भाजपा की हुई सिट्टी पिट्टी गुम

भाजपा का आरएसएस से क्या नाता है ये तो बताने की बात है ही नही क्योकि भाजपा वही करती है और भाजपा में होता वही है जो आरएसएस चाहता है क्योकि भाजपा आरएसएस का राजनीतिक दल है | ऐसे में कांग्रेस ने जो किया उससे भाजपा के होश उड़े हुए हैं | दरअसल मामला कुछ ऐसा है कि कांग्रेस ने इलाहबाद के मेयर के चुनाव के लिए अपने टिकिट से आरएसएस के एक बड़े नेता को मैदान में उतार दिया है |

कांग्रेस के दांव से भाजपा बौखला गयी

जब कांग्रेस ने ये दांव खेला तो राजनीती के सारे समीकरण धरे के धरे रह गये हैं और भाजपा को अब समझ  नहीं आरहा है कि वो क्या करे | कांग्रेस ने जो राजनैतिक दांव इस चुनाव में खेला है अगर वो चल गया तो ये कांग्रेस के लिए बहुत फायदे का सौदा होगा |

पूरे प्रदेश की चुनाव पर है नजर

कांग्रेस ने इस चुनावी मामले को इतना पेंचीदा बनाया है कि पूरे प्रदेश की नजर इसी चुनाव पे है कि अब इस हालत में भाजपा आखिर करेगी क्या क्योकि उनके सामने लड़ने वाला उनका ही आदमी है और वो  भी इस मामले में बादशाह |

चूँकि भाजपा की वोट बैंक की जो ताकत है वो आरएसएस ही है और जब आरएसएस का ही बड़ा नाम भाजपा के विरोध में हो तो सारे समीकरण ही उल्ट पुलट हो जाते हैं |

इलाहाबाद का बड़ा वोट बैंक है इनकी जेब में

जो लोग इलाहबाद की राजनीती पर नजर रखते हैं या आरएसएस के बारे में जानते हैं उनको पता होगा कि विजय मिश्रा ईलाहाबाद के बड़े आरएसएस नेता के रूप में जाने जाते हैं और  इन्ही को कांग्रेस ने अपने टिकिट से मैदान में उतारा है | विजय मिश्रा ने अपने जीवन के 25 बसंत आरएसएस और भाजपा को दिए है और वहां इलाहबाद का ब्राह्मण वोट और व्यापारी वोट पूरा विजय मिश्र के हाथ में है क्योकि वो व्यापारी संघ के अध्यक्ष भी हैं |

कांग्रेस ज्वाइन करने के पीछे  है ये वजह

विजय मिश्रा के ऐसा करने के पीछे के वजह ये बताई जा रही है कि यहाँ पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष केसरीनाथ त्रिपाठी यहाँ की पश्चिमी सीट से बहुत प्रबल दावेदार थे लेकिन भाजपा ने उन्हें टिकिट न देकर दुसरे दल से भाजपा में आये नन्द गोपाल नंदी को टिकिट दिया है जिससे विजय नाराज थे और उन्होंने भाजपा और आरएसएस से किनारा कर लिया |

उन्होंने कांग्रेस में जाना उचित समझा और प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने उन्हें सारे गिले शिकबे भुलाकर अपनी पार्टी से मेयर का प्रत्यासी बनाकर भाजपा को मात देने की सोची |

भाजपा ने बर्तमान मेयर को ही उतारा मिश्रा के सामने

विजय मिश्रा के सामने भाजपा से मेयर पद के मुकाबले में अभिलाषा गुप्ता होंगी | अभी वहां पर बर्तमान में अभिलाषा ही मेयर हैं |कांग्रेस के पास वैसे भी इतना दमदार कोई प्रत्याशी हाल में उस सीट से था नहीं तो उन्होंने विजय को उतारकर बहुत जबरदस्त मुकाबला बना दिया है | अब देखना है चुनाव का परिणाम क्या होता है |

देखिये वीडियो:-

Source-https://www.patrika.com/ballia-news/teacher-flirting-with-student-1-1997237/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें