Video: देश के शहीद की बेटी के साथ गुजरात CM की रैली में हुई शर्मनाक हरकत ! - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

Video: देश के शहीद की बेटी के साथ गुजरात CM की रैली में हुई शर्मनाक हरकत !

प्रधानमंत्री मोदी और भाजपाई किसी भी मंच से अपने आप को देश और राष्ट्र भक्त पार्टी बताने से नहीं चुकते हैं. फिर चाहे वो 15 अगस्त पर लाल किले से देश के शहीदों के सम्मान की बड़ी-बड़ी बात करना हो या फिर 26 जनवरी के अवसर पर सेना का बल देख अपनी सरकार की पीठ थपथपाना हो.

भाजपा ने की शहीद की बेटी के साथ शर्मनाक हरकत 

मगर पिछले कई दिनों में देशभर से ऐसे-ऐसे मामले सामने आई जिसने भाजपा की देश के सैनिकों के प्रति सम्मान के दावों को पोल खुल गई है. जी हाँ हाल ही में लोगों ने जब 26 जनवरी के मौके पर देश की सेना का बल देखा तो खुद भारतीय होने पर गर्व महसूस किया. लेकिन जैसे ही देश के शहीदों की बेटी के साथ भाजपाइयों द्वारा शर्मनाक हरकत की खबर जिसने भी सुनी उसका खून खौल गया. 

बीजेपी मुख्यमंत्रियों की रैली में शहीद के परिजनों को धक्के मारकर निकाला गया

जानकारी के लिए बता दें कि, पहला मामला यूपी के लखीमपुर का है जहां यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी रैली से शहीद मनोज मिश्रा के परिजनों को धक्के देकर बाहर फिकवा दिया था. तो वहीं दुसरे मामले में गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने भी शहीद की बेटी को रैली से धक्के देकर बाहर फिकवाने का काम किया है.

गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी की रैली में हुआ शहीद की बेटी से दुर्व्यवहार

उस घटना को शायद ही कोई भुला पाया होगा जिसमें गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान एक लड़की को सीएम विजय रूपाणी की रैली में घसीटा गया था. बाद में इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें महिला पुलिस कर्मी एक लड़की को घसीटते हुए बाहर ले जा रही हैं.

बाद में मिली जानकारी से पता चला था कि वो लड़की शहीद अशोक भाई तड़वी की बेटी रूपल तडवी है, जो कई सालों से प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थी.

शहीद की बेटी सालों से न्याय के लिए बीजेपी सरकार के खिलाफ़ कर रही है प्रदर्शन  

दरअसल, उसके पिता अशोक भाई तड़वी 2002 में अनंतनांग में शहीद हो गए थे. उसका आरोप है कि सरकार ने उसे जमीन देने का वादा किया था, लेकिन आज तक उसे जमीन नहीं मिली. शुक्रवार (1 दिसंबर) को जब रूपाणी रैली कर रहे थे तब रूपल रैली में पहुंचकर उनसे मिलने के लिए हंगामा करने लगीं. जिसके बाद सुरक्षा बल ने उसको जबरन रैली से बाहर कर दिया.

मुख्यमंत्री रूपाणी से मिलना चाहती थी शहीद की बेटी

वायरल वीडियो में भी वह चिल्लाते हुए केवल एक ही बात बोलती दिख रही है कि “मुझे मुख्यमंत्री से मिलना है.” इससे पहले कि वो मुख्यमंत्री के पास पहुंचती महिला पुलिस उसे घसीटते हुए वहां से दूर ले गई.

शहीदों के परिजनों से दुर्व्यवहार पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी साधा था भाजपा पर निशाना

देखिये वीडियो:-

शहीद की बेटी संग बीजेपी मुख्यमंत्री की रैली में हुए अपमान का वीडियो ट्वीट करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा पर साफ़ तौर पर निशाना साधते हुए लिखा कि “परम देशभक्त रूपाणी ने एक शहीद की बेटी से ऐसा बर्ताव कर मानवता को शर्मसार किया है.”

निष्कर्ष: हालांकि ये वीडियो थोडा पुराना है, लेकिन आज हम इसे आपके सामने इसलिए लेकर आए है ताकि देश की जनता ये समझ सके कि जो बीजेपी सरकार गणतंत्र दिवस पर खुद को देश की सबसे बड़ी राष्ट्र पार्टी बोलने से नहीं थक रही थी उसके ही मुख्यमंत्री अपनी रैलियों में हुए शहीदों के परिवार वालों से अपमान को नजरअंदाज करते दिखे थे.

Related Articles

Close