Video: BJP नेता ने पार की गुंडई की सारी हदें, सत्ता के नशे में SDM को सरेआम मारा थप्‍पड़!

शेयर करें

देश की जनता के बीच अपने मापदंडो पर खरी नही उतरने वाली बीजेपी को अलग-अलग चुनावों में जिस तरह हार का सामना करना पड़ रहा है उससे उसकी खिसियाहट साफ़ तौर पर निकल कर आ रही है.

देश में बीजेपी का गुंडाराज

फिर चाहे वो मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपने सुरक्षाकर्मी को थप्पड़ मारना हो या फिर हाल ही में भाजपा के एक अन्य दिग्गज द्वारा प्रदेश के एक IAS रैंक के अफ़सर के साथ सरेआम मारपीट करना हो…भाजपा अपनी गुंडागर्दी दिखाने से कही बाज़ नहीं आती है.  

भाजपा ज़िला अध्यक्ष ने की एसडीएम के साथ हाथापाई

ऐसा ही एक मामला हाल ही में सुनने को मिला. जब उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव के नतीजों में मिली करारी हार से खफा होकर भाजपा बरेली के अध्यक्ष रवींद्र सिंह राठौर ने ज़िले के एसडीएम को न केवल जोरदार तमाचा जड़ा बल्कि उसके साथ सरेआम हाथापाई भी की.

चुनावों में भाजपा को मिली हार से बोखलाए अध्यक्ष साहब ने मारा SDM को थप्पड़

यूँ तो ये मामला पिछले महीने का हैं लेकिन एक अफ़सर के साथ हुई इस जाज्ती के बाद अब कही जाकर इस मामले ने तूल पकड़ा है. दरअसल, बरेली में चेयरमैन पद के लिए हुए चुनावों पर बीएसपी के प्रत्याशी ने बीजेपी को हरा कर अपनी जीत दर्ज कराई थी, जिससे भाजपा जिला अध्यक्ष राठौर इस कदर खफा हो गए कि उन्होंने एसडीएम को ही थप्पड़ जड़ दिया.

FIR दर्ज होने के बाद आरोप बीजेपी अध्यक्ष है फ़रार

हालाँकि जब मामले ने तूल पकड़ी तो इस हरकत के कारण अध्यक्ष राठौर और उनके भाई के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई, लेकिन एफआईआर दर्ज होने के बाद से ही दोनों गायब बताए जा रहे है, फिलहाल पुलिस दोनों को तलाश कर रही है.

राठौड़ पर पहले भी लग चुके है कई आरोप

बता दें कि भाजपा ज़िला अध्यक्ष रवींद्र सिंह राठौड़ की गुंडई का के कोई पहला मामला नहीं था. इससे पहले भी बीते साल सितंबर में भी ऐसी ही एक ओर घटना सामने आई थी, जिससे चलते उन्हें उस वक्त भी गायब होना पड़ा था. गायब होने के नौ दिन के बाद उन्होंने अपने परिवार को कॉल करके बताया था कि वह मध्य प्रदेश में हैं और एक मंदिर के दर्शन करने के लिए आए हैं.

चुनाव में राठौर की साली को मिली थी हार

योगी राज में भाजपाईयों के हौसलें कितने बुलंद है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते महीने नवाबगंज चेयरपर्सन के पद के चुनाव हुए थे, जिसमें राठौर की साली (सिस्टर-इन-लॉ) प्रेमलता ने चुनाव लड़ा था, लेकिन नतीजे सामने आने के बाद इस सीट पर बीएसपी प्रत्याशी शहला ताहिर को जीत मिली और प्रेमलता को 171 वोट्स से हार का सामना करना पड़ा.

हार के बाद दुबारा वोटिंग कराना चाहती थी बीजेपी

रिपोर्ट्स के मुताबिक राठौर और उनके भाई नरेंद्र ने इस सीट के लिए दोबारा मतगणना करने की ज़िद की, जिसे एसडीएम राजेश कुमार ने मना कर दिया, जिसके बाद राठौर ने कथित तौर पर अपनी गुंडई दिखाते हुए एसडीएम से सरेआम हाथापाई की.

“बीजेपी की हार का ऐलान करते ही मुझे बीजेपी ज़िला अध्यक्ष ने मारा थप्पड़”

एसडीएम कुमार ने मीडिया को बताया, “बीते शुक्रवार को शाम 7 बजे के आसपास मतगणना खत्म हो गई थी. मैं बस नतीजों का ऐलान करने की वाला था कि नरेंद्र वहां आए और मुझसे दोबारा काउंटिंग करने का अनुरोध किया. मैंने पूरी गणना की प्रक्रिया को देखा था और मुझे कोई भी गड़बड़ नजर नहीं आई थी, जिसके कारण मैंने दोबारा गणना करने से मना कर दिया और ताहिर के जीतने का ऐलान कर दिया.”

SDM को जाति सूचक गालियां देते हुए उनके ऊपर हुआ हमला

SDM राजेश कुमार का कहना है कि “उनके मना करने के बाद बीजेपी ज़िला अध्यक्ष रवींद्र और उनके भाई ने उन्हें जाति सूचक गालियां देते हुए उनके ऊपर हमला भी कर दिया.” पूरी शर्मनाक घटना का एक वीडियो भी उस वक्त सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था, जिसमें बीजेपी नेता हाथापाई और गाली-गलोच करते हुए साफ़ देखें जा रहे थे.

चलिए वीडियो में आप खुद ही देखें भाजपाईयों की गुंडाई का सबूत..

देखिये वीडियो:-

निष्कर्ष: वाकई जो बीजेपी सत्ता में आने से पहले तक कांग्रेस व अन्य पार्टियों पर गुंडागर्दी के कथाकथित आरोप लगाते हुए उन्हें जमकर कोसती दिखती थी. उसे सत्ता में आते ही देश के काबिल अफ़सरों पर हाथ उठाने और उनके साथ बत्तमीजी करने का मानो लाइसेंस मिल गया है.


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े