देखें वीडियो – मुसलमानों पर किया जा रहा था हमला, हिफाज़त में आये सिखों ने शिव सैनिकों को खदेड़ा

शेयर करें

शिव सेना का रूप तो सबने देखा ही है की कैसे ये संगठन समाज में नफरत और हिंसा फैलाता है | विशेषकर कुछ अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ, लेकिन एक समय जब कुछ तथाकथित शिवसेना कार्यकर्ता पंजाब पहुचे और वह का महाल खराब करने की कोशिश की तब वह के सिख समुदाय ने मोर्चा संभालते हुए अपने राज्य के लोगो की हिफाज़त की |

ये घटना काफी पुरानी है जिसमे शिवसेना के कार्यकर्ता अमरनाथ यात्रा में हुए विद्रोह के विरोध में पंजाब में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन जब माहौल ज्यादा ख़राब हुआ तो वह की सिख समुदाय ने महाल को शांत करने की कोशिश की |

पंजाब राज्य में स्थित फघवर स्थान की है ये घटना

बज्ज फीड की खबर के मुताबिक यह पूरी घटना पंजाब के फघवर की है जहाँ शिवसेना के कार्यकर्ताओं द्वारा हमले के खिलाफ मुस्लिमों को समर्थन देने के लिए सिख समुदाय के सदस्य खुली तलवार से बाहर आए। समस्या की शुरुवात हुई जब जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा में विद्रोह के विरोध में शिवसेना कार्यकर्ताओ ने कथित तौर पर बल पूर्वक कुछ मुस्लिम परिवारों की दूकान बंद करने की कोशिश की |


इस घटना से तंग आकर मुस्लिम समुदाय के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रशासन को एक ज्ञापन प्रस्तुत करना था, जिसमें मुस्लिम व्यापारियों को परेशान करने के लिए शिवसेना कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी।

शिवसेना कार्यकर्ता मस्जिद के बाहर पहुच कर नारे लगा रहे थे, तभी…

जिस वक़्त मस्जिद में नमाज चल रही थी उस वक़्त शिवसेना कार्यकर्ता उसके बाहर पहुच गये और नारेबाजी करने लगे | उन्होंने पाकिस्तान विरोधी और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये | मस्जिद से भी कुछ लोग बाहर आये और दोनों तरफ गरमा गर्मी का माहौल बढने लगा | दोनों समुदाय एक दूसरे पे गाली गलौज करने लगे |

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सिख समुदाय के एक समूह ने मुस्लिम समुदाय का पक्ष लेते हुए उनका समर्थन किया | माहौल किसी साम्प्रदायिक दंगे से कम नही था | जहा पुलिस भी हरकत में आगयी थी |

दोनों पक्षों ने 25 मिनट के लिए पत्थरों का आदान-प्रदान करने के बाद ही दो पुलिसकर्मियों सहित छह लोगों की मौत हो गई थी। बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों के कुछ लोगों को हिरासत में लिया।

देखिये वीडियो:-


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े