जजों के मामले में शॉटगण शत्रुघ्न ने मोदी सरकार को इस तरह से लताड़ा

शेयर करें

सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों ने शुक्रवार को चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ सही से काम नहीं करने के गंभीर आरोप लगाए। इस जज विवाद की आड़ में अपनी ही पार्टी से नाराज चल रहे भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने केन्द्र की मोदी सरकार को घेरा है। शत्रुघ्न सिन्हा ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए लिखा है कि माननीय सर, ये क्या हो रहा है? जज ही इंसाफ मांग रहे हैं और न्याय इंसाफ की गुहार लगा रहा है।

बॉलीवुड अभिनेता और भाजपा के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘माननीय सर, ये क्या हो रहा है? अच्छे दिनों की जगह ये कौन से दिन आ रहे हैं? जज ही इंसाफ मांग रहे हैं और न्याय इंसाफ की गुहार लगा रहा है!’ शत्रुघ्न ने पूछा कि देश में ये अच्छे दिनों की जगह कौन से दिन आ रहे हैं। शत्रुघ्न सिन्हा के इस ट्वीट की भाषा से लगता है कि उन्होंने इसे किसी को संबोधित कर लिखा है, लेकिन उन्होंने इसमें किसी का नाम नहीं लिखा है।

सिन्हा ने ट्विटर पर लिखा कि ऐसा लगता है कि मामला बहुत गंभीर है और सब कुछ ठीक नहीं है, आशा और कामना करता हूं कि हम लोग इस समस्या से पार पा लेगें और आप इसका उचित निपटारा करेंगे, लेकिन ये जितनी जल्दी हो जाए, उतना ही ठीक होगा, न्यायपालिका और सुप्रीम कोर्ट जिंदाबाद। जय हिंद।’

‘शॉटगन’ के इस ट्वीट पर उन्हें ट्रोल किया जा रहा है। एक यूजर ने लिखा कि सबके लिये अच्छे दिन कैसे आ सकता है, जो कलंकित नही है उसके लिए अच्छे दिन लगेगा तो बाकी के लिए बुरा दिन भी। रास्ते में बताने से बदले वो एक बार प्रधानमंत्री से सीधी बात करने के बाद सबके सामने आना चाहिए था।’

तो वहीं एक यूजर ने लिखा कि सर आपको मसले का कुछ अंदाजा भी है, आप खामोश ही रहे तो अच्छा है।’ देवनाथ नाम के यूजर ने लिखा कि कांग्रेस में चले जाइये भाई साहेब। इसमें भाजपा और मोदी क्या करे। CJI मोदी या भाजपा बनातीं है क्या घटिया आदमी।

गौरतलब है कि इससे पहले भी इस जज विवाद को लेकर पक्ष और विपक्ष के विरोधियों ने मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। वहीं महाराष्ट्र में भी ठाकरे ब्रदर्स ने मोदी सरकार को घेरते हुए जमकर तंज कसे हैं। एक तरफ राज ठाकरे ने शुक्रवार को ही बयान जारी कर 4 जजों के इन सवालों को लोकतंत्र के लिए खतरनाक बताया जबकि शनिवार को शिवसेना के मुखिया उद्धव ठाकरे ने लोकतंत्र के सभी 4 स्तंभों को स्वंतत्रता से खड़ा रहने की हिमायत की है।

source;http://lokbharat.in/%E0%A4%9C%E0%A4%9C%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%B2%E0%A5%87-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%9A%E0%A4%B2%E0%A5%80-%E0%A4%B6%E0%A5%89%E0%A4%9F%E0%A4%97/


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े