लग सकती है सिनेमा घर में राष्ट्रगान पे रोक…? जानिए क्या कहा गुस्साए सुप्रीम कोर्ट ने

शेयर करें

राष्ट्रगान गाने या न गाने को लेकर मोदी सरकार के आने के बाद खूब बवाल काटा गया है और इसके लिए कुछ लोगों के साथ बदसुलूकी तो कुछ के साथ मारपीट भी हुई है| ऐसे में अब सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती से कहा है कि इस सरकार को कोर्ट के कंधे पर बंदूक रखकर चलाने नही दी जाएगी |

बता दें कि देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने सिनेमा घरों में फिल्म की शुरुआत में राष्ट्रागान चलाये जाने और उस पर खड़े होने के सम्बन्ध में ताजा निर्देश जारी किया है|

वैसे तो राष्ट्रगान गाना या न गाना स्वेच्छा के ऊपर है लेकिन राष्ट्रगान को लेकर सम्मान दिखाना हर किसी का कर्तव्य बनता है| इसको लेकर विवाद तब खड़ा होता है जब राष्ट्रगान एक संप्रदाय विशेष को टारगेट करने का माध्यम बना लिया जाता है |

राष्ट्रगान की आड़ में हो रहा है ये सब

राष्ट्रगान के सम्मान में खड़े होने को लेकर इस सरकार में बहुत ज्यादा ही बवाल देखने को मिल रहा है | इस सरकार के लोग इस तरह से इस बात को मुद्दा बना रहे हैं कि इससे मानवीय मूल्य भी शर्मसार हो रहे हैं |

सिनेमा के अंदर अगर कोई विकलांग अपनी अपंगता की वजह से खड़ा नहीं हो पाता है तो उसे मारा पीटा जाता है और उसके वीडियो बना लिये जाते हैं | ऐसी तमाम खबरें राष्ट्रगान को लेकर सामने आयी हैं जिनसे साफ़ पता चलता है कि इसका सिर्फ दुरूपयोग हो रहा है |

सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये ताज़ा बयान

आपको बता दें अपने ताजा निर्देश में सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि ‘आप हमारे ऊपर बंदूक रखकर गोली मत चलाइए| आपको लगता है कि ऐसा करने से लोगों के मन में देशभक्ति जागेगी तो आप इसके लिए ठोस कानून बनाइये| कोर्ट के भरोसे मत रहिये|’

कोर्ट ने सरकार से ये भी कहा कि ‘सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के दौरान खड़ा होना जरुरी नही, क्योंकि खड़ा होना या न होना देशभक्ति नापने का मीटर नही हो सकता| कोई अगर खड़ा नही हुआ तो वो कम देशभक्त है ये कहना गलत होगा|’

कोर्ट ने सरकार को सुनाई खरी खोटी

इतना ही नहीं कोर्ट ने तो यहाँ तक कहा कि ‘सिनेमाघरों में खड़ा न होने पर अगर देशभक्ति कम होती है तो कल को ये भी कहा जा सकता है कि राष्ट्रगान के दौरान टीशर्ट और जींस में जाना भी राष्ट्रगान का अपमान होगा, इसलिए हमारे कंधे पर आप बंदूक रखकर गोली मत चलाईये, आप ही कोई कानून बनाइए| हम अपने आदेशों से किसी के अंदर देशभक्ति नही भर सकते, ये सबका खुद का कर्तव्य है|’

देखिये वीडियो:-

source-http://www.dw.com/hi/%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%AD%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BF-%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%96%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%B2%E0%A4%BF%E0%A4%8F-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%97%E0%A4%BE%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A4%B0%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A4%A4-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82/a-41084892


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े