मोदी का बचना मुश्किल, कांग्रेस ने मोदी की डिग्री को लेकर उठाया ताबड़तोड़ कदम, पढ़ें

शेयर करें

देश का प्रधानमंत्री ही पूरे देश को चलाता है और देश को चलाने वाले प्रधनमंत्री क पढ़ा लिखा होना कितना जरूरी है। इस बारे में आपको बताने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि शिक्षित प्रधानमंत्री ही देश के हर वर्ग को जरूरतों को समझ सकता है।

1. मोदी की डिग्री पर मचा बवाल

आपको बता दें कि देश के प्रधानमंत्री मोदी की शिक्षा को लेकर अब तक एक बड़ा सवाल खड़ा हुआ है। क्योंकि साल 2014 से लेकर अबतक मोदी की डिग्री को लेकर कश्मकश बरकरार है। ये कश्मकश पीएम मोदी ने खुद ही बनाई है।

2. विपक्षी दलों के निशाने पर रहते हैं मोदी

पीएम मोदी ने अब तक कई भाषणों में खुद की शिक्षा के बारे में अलग-अलग बयान दिए हैं। कभी वह खुद को अशिक्षित बताते हैं तो कभी खुद को पास ग्रेजुएट बताते हैं। इसी के कारण वह अक्सर विपक्षी दलों के निशाने पर रहते हैं।

3. संजय निरुपम ने उठाये मोदी की डिग्री पर सवाल

इस मामले में प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर कांग्रेस नेता संजय निरुपम के निशाने पर आ गए हैं। उन्होंने पीएम मोदी की डिग्री पर सवाल उठाते हुए उन्हें अनपढ़ करार दिया है। दरअसल उन्होंने महाराष्ट्र सरकार के उस फैसले का विरोध किया है। जिसमें राज्य के स्कूलों में पीएम मोदी पर बनी फिल्म दिखाने की बात कही है।

4. बच्चों को राजनीति से दूर रखना चाहिए

खबर के मुताबिक कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि बच्चों की पढाई में राजनीति का क्या काम। उन्हें राजनीति से दूर रखना चाहिए। कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने स्कूल में पीएम मोदी की फिल्म जबरन दिखाना गलत बताया है।

5. प्रधानमंत्री भगवान नहीं होता

इसके साथ संजय निरुपम में बीजेपी पर भी निशाना साधा है। उनका कहना है कि सत्ताधारी पार्टी को किसी भी नेता के हर शब्द पर आपत्ति करने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि भारत एक लोकतान्त्रिक देश है। लोकतंत्र में प्रधानमंत्री भगवान नहीं होता।

निष्कर्ष:  गौरतलब है कि देश के प्रधानमंत्री अगर खुद पढ़े लिखे नहीं होंगे, तो वह देश के भविष्य को कैसे सवारेंगे।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े