शेयर करें

गधे को कितना भी घोड़े की खाल उडाओ लेकिन जब गधो का सामूहिक अलाप शुरू होता है तो खाल ओढ़े हुए गधा भी रेंगने लगता है और उसकी असलियत सामने आजाती है  ! अब आप सोच रहे होंगे कि ये प्राइमरी की कहानी मैं यहाँ क्यों सुना रहा हूँ तो बताता हूँ कि मैं यहाँ पर भाजपा के चरित्र की बात कर रहा जो उसी गधे से मिलता जुलता है!

ये कितना भी देशहित और नारी सम्मान की बात कर लें लेकिन इनकी असलियत सामने आ ही जाती है !

भाजपाइयों की जमकर हुए ठुकाई

दरअसल बरेली के जिला अस्पताल में भाजपा के कुछ नेता लोग जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के बावत गये थे लेकिन उन्होंने ये कभी भूल से भी न सोचा होगा कि उनकी जान पर बन आएगी !

जिला अस्पताल में भाजपाइयों को न फिर पीटा गया बल्कि उन्हें खदेड़ खदेड़कर मारा गया और भाजपाइयों को जान के लाले पड़ गये !

क्या था पूरा मामला

मामला कुछ ऐसा है कि बरेली के नगर अध्यक्ष गुरुवार के दिन अपने लाव-लश्कर के साथ जिला अस्पताल गये ताकि वो यहाँ की जांच-पड़ताल कर सके ! मीडिया ऐसी खबर दिखा रही है कि यहाँ निरीक्षण करते हुए फीमेल वार्ड से एक्सपायरी डेट का एक इन्जेशन मिला ! इसके बाद ये लोग सीएमएस कार्यालय गये और उन्हें अस्पताल की इस हालत से वाकिफ कराया ! जैसे ही भाजपा नेता केबिन से बाहर आरहे थे तो उन्हें स्टाफ ने घेर लिया !

लेकिन इस मामले की सच्चाई कुछ ऐसे पहलू से भी सामने आरही कि अस्पताल की नर्सों का कहना है कि ये भाजपा नेता उनके साथ छेड़खानी कर रहे थे जिसके चलते अपनी आबरू से खिलवाड़ करने के आरोप में और खुद को बचाने के लिए उन्होंने भाजपा नेताओ को पीटा ! खैर भाजपा नेताओ ने स्टाफ के खिलाफ कोतबाली में शिकायत की है !

इतनी सी बात तो कोई भी समझ सकता है कि किसी भी स्टाफ की इतनी हिम्मत नहीं होती कि जांच पर आये अधिकारियों पर वो खुद की गलती के लिए हाथ उठा दें ! इस मामले को प्रशासन में भाजपा होने के कारण गुमराह किया जा रहा है ! बांकी जनता सब जानती है साहब !

Source-http://www.hindi.indiasamvad.co.in/specialstories/bareilly-district-hospital-and-bjp-worker-fighting–30599/amp


शेयर करें