विडियो- ‘बीजेपी नेता’ राजनाथ सिंह ने ‘भारतीय सेना’ के जवान से साफ़ करवाए अपने जूते

शेयर करें

हमेशा जवानों के नाम पर जमकर राजनीति करने वाली मोदी सरकार का एक सच यह भी है कि वह केवल देश के वीर जवानों के बारे में ‘सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें’ ही करती है, लेकिन हाल ही में सोशल मीडिया पर देश के ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह जी का जो वीडियो वायरल हो रहा है वो यकीनन शर्मनाक है.

ग्रह मंत्री राजनाथ सिंह सेना के जवानों का करते दिखे अपमान

दरअसल, सोशल मीडिया पर वायरल होते वीडियो में BJP के वरिष्ट नेता व देश के ग्रह मंत्री राजनाथ सिंह जब गुजरात के सीमाई इलाके के दौर पर सेना के जवान से अपने जूतों के फीते बंधवाते नज़र आए. तो एक बार फिर ये सवाल खड़ा हो गया कि क्या सच में देश के जवान सेना में भर्ती यह सब करने के लिए होते हैं ? या सत्ता मिलने के बाद सरकार और उसके मंत्रियों को सेना के जवानों से ये सब कराने का हक़ भी मिल जाता है? 

देखिये वीडियो:-

बीजेपी हमेशा सेना पर करती आई है राजनीति

अगर आपको याद हो तो राजनाथ सिंह उस ही पार्टी के नामी नेता है जिनके कार्यकर्ताओं से लेकर कट्टर समर्थक तक नोटबंदी की लाइन में खड़े होने वाले लोगों को बॉर्डर पर भारतीय सेना के जवानो के खड़े होने की दुहाई देते दिख रहे थे. ऐसे में अब देश जानना चाहेंगा उन लोगो से कि वो राजनाथ सिंह की इस हरकत के बारे में अब किसकी दुहाई देंगे.

प्रधानमंत्री मोदी भी कर चुके हैं सेना कर्मी से दुर्व्यवहार

वैसे बीजेपी की ओर से ये कोई पहला वाकय नहीं है जब पार्टी के दिग्गज नेताओं ने किसी सेना के जवान के साथ दुर्व्यवहार किया हो. इस शर्मनाक घटना से पहले भी खबर है कि एक बार खुद प्रधानमंत्री मोदी ने भी अपनी सुरक्षा में तैनात भारतीय सेना के जवान को इसलिए सरेआम फटकार लगाई थी क्योंकि उस जवान ने प्रधानमंत्री साहब की तस्वीर सही से नही खींची थी.

इस भाजपाई ने तो मार दिया था जवान को थप्पड़

इसके अलावा भी भाजपा के कई अन्य बड़े नेता कई बार सेना के जवानो पर हाथ भी उठा चुके हैं जिनमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हैं.

निष्कर्ष:

माना साहब कि आप ग्रह मंत्री हैं लेकिन सत्ता का इतना भी क्या गुमान कि आप अपने खुद के जूतों के फीते नहीं बाँध सकते..? अपने इस तरह के निजी कार्य के लिए भी किसी की जरुरत पड़ती हैं और वो भी सेना के जवान की?

वाकई जवानों के नाम पर राजनीती करने वाली बीजेपी जब इस तरीके की शर्मनाक हरकतें सेना के जवानों के साथ करती है तो इससे दुसरें सैनिकों का मनोबल भी कमज़ोर होता है. क्योंकि हमारे जवान मुल्क की सेवा के लिए हैं न की सत्ता में बैठे तथाकथित ‘राष्ट्रवादियों’ की इस तरीके की सेवाओं के लिए.


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े