RELATED:अगर सुप्रीम कोर्ट ने ये विडियो देख लिया तोह...

राज बब्बर जो फ़िल्मी अभिनेता के तौर पर लोगों के दिलों तक पहुंचे और उसके बाद फिर राजनीती में कांग्रेस के साथ आकर देश हित के कार्य में लग गये ! खैर , अभी देश के अंदर जो माहौल बना हुआ है उस हिसाब से देश में तनाव बहुत है और साम्प्रदायिकता अपने चरम पर है |

जब से भाजपा सरकार में आई है तब से ये भगवाधारी लोग गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी करते हुए देखे जा रहे हैं ! इनके ऐसा करने में इनका जो हौसला है उसमे कहीं न कहीं पर इन्हें सरकार का समर्थन तो है वरना इनकी ऐसा करने कि हिम्मत न होती ! और वैसे भी भाजपा की सरकार आने के पहले तक ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिलता था और ये गुंडे नजर नहीं आते थे लेकिन अब मामला गड़बड़ है !

ये लोग गौरक्षा ने नाम पर एक समुदाय विशेष को निशाना बना रहे है और डर तो इन्हें है ही नहीं क्योकि ये लोग या तो आरएसएस से होते है या फिर आरएसएस के ही घटक दल बजरंग दल या विहिप से होते है और सबको पता है बीजेपी में वही होता है जो आरएसएस चाहे तो फिर सरकार कितने भी दावे पेश कर ले कि वो इन्हें रोक रही लेकिन इन्हें रोकना उसके बस में नहीं ! फिर मोदी भले ही मंच से चाहे रोते हुए बात करें या चिल्लाते हुए लेकिन इन्हें फर्क नहीं पड़ता क्योकि इन्हें भी पता है कि साहब के मुंह में राम और बगल में छुरी वाला मामला है !

इसी साम्प्रदायिकता के ऊपर बोलते हुए राज बब्बर ने जो कुछ बोला वो बहुत ही जबरदस्त बोला और उस बात पर चिंतन होना चाहिए कि राज बब्बर जिस प्रकार का माहौल बता रहे जो उन्होंने देखा अब वो क्यों नहीं है? इतनी खटास आखिर पैदा किसने की और क्यों ?राज बब्बर बताते हैं कि वो जिस जगह से आते हैं वहां पर एक मुस्लिम हिन्दू से राम राम कहके अभिवादन करता है और अगर हिन्दू को कोई मौलाना दिख गये तो हिन्दू तपाक से उसे सलाम करता है ! ऐसा ही सिक्खों के साथ है ! मुस्लिम उन्हें शत श्री अकाल कहते है और वो उन्हें सलाम करते हैं ! कहने का मतलब ये है कि इतने भाईचारे और प्यार से जब हर मजहब के लोग रह रहे हैं फिर ये समाज में जहर आया कहाँ से ?

देखिये वीडियो में कि क्या बोला राज बब्बर ने

देखिये वीडियो:-

--- ये खबर वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है वायरल इन इंडिया न्यूज़ पोर्टल के लिए

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े