शिवराज पुलिस का शर्मनाक चेहरा आया सामने, मामला सुनकर काँप जाएगी रुंह ! - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

शिवराज पुलिस का शर्मनाक चेहरा आया सामने, मामला सुनकर काँप जाएगी रुंह !

भोपाल के आरकेडीएफ मेडिकल कॉलेज की मान्यता खत्म होने के बाद से दूसरे कॉलेजों में भर्ती को लेकर दर-दर भटक रहीं मेडिकल की छात्राओं पर शिवराज पुलिस ने दिखाई दरिंदग।

मध्यप्रदेश में इन्साफ मांग रही छात्राओं के साथ पुलिस ने की गन्दी हरकत 

जी हाँ पीड़ित छात्राओं ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया है कि पुलिस के जवानों ने न केवल उनके साथ धक्का-मुक्की की बल्कि उनके बाल पकड़कर उन्हें खींचा, उनके हाथ मरोड़े और साथ ही लड़कियों के साथ गाली-गलौच भी की है। जबकि पुलिस ने मीडिया के द्वारा जारी तस्वीरों के बाद भी सभी आरोपों को झुठला दिया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से मिलना चाहती थी छात्राएं

बता दें कि बीते शुक्रवार को करीब 150 की संख्या में छात्र-छात्राएं अपने परिजनों के साथ दोपहर 12 बजे विरोध जताने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास गए थे, लेकिन सुरक्षा में लगे पुलिस के जवानों ने उन्हें ये कहते हुए लौटा दिया कि मुख्यमंत्री अभी वहां नहीं हैं। इससे छात्र और उनके परिजन नाराज हो गए और रैली लेकर मंत्रालय की तरफ आगे बढ़ने लगे लेकिन इससे ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया।

कोर्ट के आदेश के बाद भी रो रही है शिवराज सरकार

नाराज छात्रों को रोकने की वजह से बहस होने लगी और जिस वजह से दोनों में झड़प हो गई। हिमांशु नाम के एक छात्र ने बताया कि उन्होंने लाखों रुपए खर्च किए हैं और अब कॉलेज में प्रवेश नहीं मिल रहा है। सरकार भी इसका कोई हल नहीं निकाल रही है, जबकि कोर्ट ने सरकार को प्रवेश दिलाने के लिए कहा है।

मुख्यमंत्री से न्याय मांगना छात्राओं को पड़ गया महंगा 

गौरतलब है कि ये सभी छात्र सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज से मिलनेे केे लिए गए थे। औऱ अपना रोष उनके सामने रखना चाहते थे। ताकि इन छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न किया जाए। और इस मुद्दे का कोई समाधान निकाला जाए। लेकिन इससे पहले ही पुलिस की ये शर्मनाक घटना सामने आ गई।

मध्यप्रदेश पुलिस की हो रही है आलोचना  

पुलिस ने जिस तरह से छात्राओं के साथ दुर्व्यवहार किया है वो यकीनन बहुत ही बेहुदा है। अगर राज्य के लोग अपनी बात नेता से नहीं कहेंगे तो किसे कहेंगे।

कांग्रेस ने साधा बीजेपी सरकार पर निशाना

इस मामले पर मध्यप्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि..

“भोपाल में भविष्य के डॉक्टरों से इस तरह का पुलिस का व्यवहार शर्मनाक और निंदनीय है। शिवराज सिंह जी आपसे मिलने आ रही छात्राओं को इस तरह बाल पकड़कर ले गए पुलिस वाले। ऐसे हाल है आपके राज में भांजियों के साथ।”

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close