शेयर करें

अभी निकाय चुनाव ख़त्म हुआ है और भाजपा को यूपी में एक बड़ी जीत करके दिखाया जा रहा है जबकि उसे असल में ऐसा कुछ ख़ास हासिल नहीं हुआ है | यूपी के निकाय चुनाव के मामले में मीडिया भी इनका साथ देते हुए इसे भाजपा की जीत करार दे रही है और भाजपा इसका बड़ा जशन मानते हुए इसे कांग्रेस की हार कहने पर तुली हुई है | इस निकाय चुनाव में भाजपा को जितना नुकसान हुआ है उससे तो अच्छी परफोर्मेंस भाजपा की पिछले निकाय चुनाव में रही है |

आधी से ज्यादा सीटों पर भाजपा की जमानत जब्त

हमें भाजपा वालों के जीत मनाने का तुक ही नहीं समझ में आता है जबकि इनके आधे से ज्यादा उम्मीदवार अपनी जमानत तक जब्त होने से नहीं बचा पाए | बताया जा रहा है कि भाजपा के 3656 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होंने अपनी जमानत जब्त कराई हुई है | वहीँ भाजपा ने 2366 सीटों पर जीत पाई है | आप स्वयं देख सकते हैं कि जीती हुई सीटों से कितने ज्यादा हारी  हुई सीटों की संख्या है |

हार को बताया जा रहा एतिहासिक जीत

एक आंकड़े के अनुसार भारतीय जनता पार्टी ने अपने कुल जितने प्रत्याशी इस यूपी के निकाय चुनाव में उतारे थे उतने में से 45 फीसदी उम्मीदवार अपनी जमानत जब्त कराकर आये हैं |

तीन चरणों में जो पूरी सीटें थी उन सबको मिलाकर भाजपा का स्कोर कार्ड देखें तो जीतने वाली सीटों का आंकड़ा ऐसा है कि भाजपा को 30 फीसदी सीटों पर ही जीत मिली है और इसे ये एतिहासिक जीत बताकर कांग्रेस पर हार का जश्न मना रहे हैं |

नगर पंचायत चुनावों में भी मिली करारी हार

वहीँ अगर हम बात करें नगर पंचायत सदस्य की तो इस चुनाव में भाजपा को 11.1 फीसदी ही वोट मिले हैं | इस चुनाव में विपक्षी पार्टियों की अपेक्षा भाजपा ने ज्यादा प्रत्याशी मैदान में उतारे थे | भाजपा की ओर से 12644 सीटों पर 8038 उम्मीदवार लड़े थे |इनमे आधी से ज्यादा सीटों पर भाजपा बुरी तरह हारी है | नगर पंचायत सदस्य चुनावों में भाजपा के 664 उम्मीदवार जीते हैं और हारने वाले में 1462 उम्मीदवार हैं |

सभी पार्टियों की जमानत जब्त में भी भाजपा अब्बल

अगर सभी पार्टियों के जमानत जब्त होने के आंकड़े देखें तो अन्य पार्टियों की अपेक्षा जमानत जब्त कराने के मामले में भी भाजपा ही अब्बल है | अगर हम इन आंकड़ों की 2012 के यूपी निकाय चुनावों से तुलना करें तो सपा और बसपा इस दौड़ में ही नहीं शामिल थी |

ये मुकाबला भाजपा,कांग्रेस,निर्दलियों और छोटी पार्टियों के बीच ही हुआ था |वहीँ 2006 के चुनावों में सपा ने 40 फीसदी उम्मीदवार उतारे थे और उनमे से 13 फीसदी सीटें जीती भी थी | इसके बाबजूद भी भाजपा जनता को गुजरात चुनावों के लिए गुमराह कर रही है और झूठा जश्न मानाने में लगी हुई है |

देखिये वीडियो:-

Source-http://puridunia.com/up-local-election-half-of-bjp-candidates-seize-bail/305932/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

शेयर करें