नरेन्द्र मोदी ने करदी वो गलती जिसे करके हर बड़े नेता ने गंवाई अपनी कुर्सी

By:- Viral in India Team on

नरेन्द्र मोदी इस वक़्त विश्व में सबसे ताकतवर नेताओ में से है जिनके बारे में यही अनुमान लगाया जाता है की आने वाले कुछ सालो तक इन्हें कोई भी कुर्सी से हिला नहीं सकता l ना जाने कितनी बीजेपी के द्वारा चलायी जा रही मीडिया साइट्स में अपने पढ़ा होगा की नरेन्द्र मोदी की भविष्यनि नस्त्रेदोम्स ने की है और उनकी कविताओ में पाया जाता है की मोदी भारतीय राजनीती के गेम चेंजर नेता होंगे l

मगर कुछ ऐसे मिथ भी है जो ये दावा करते है की भारत की कुछ चुनिन्दा जगह जाने पर नेताओ ने अपनी कुर्सी गवाई है l और अब जिनका नाम इसमें जोड़ा जा रहा है वो है भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी l

मध्यप्रदेश में है वो जगहे जहा जाने से घबराते है नेता!

मध्यप्रदेश एक ऐसी जगह है भारत की जहा नेता जाने से कतराते है क्योंकि अब तक का इतिहास यही बतलाता है की कुछ चुनिन्दा जगहों पर जाने से नेताओ को खोनी पड़ी है सत्ता की कुर्सी l महाकाल की नगरी उज्जैन के बारे में सभी जानते है जो तीर्थ स्थलों में काफी मशहूर है लेकिन यहा पर कोई भारतीय नेता रात नहीं गुजारता l जी हा, इस जगह पर कोई भी भारतीय नेता रात को रुकने से कतराता है क्योंकि अब तक जो भी यह रुके है उन्हें अपनी कुर्सी से हाथ धोना पडा है l

ओरछा जहा भगवान् राम को राजा के रूप में पूजा जाता है

कुछ यही बाते ओरछा जगह के बारे में भी कही जाती है l यह एक ऐसी जगह है जहा लोग भगवान् राम को भगवान् का दर्जा न देते हुए राजा की तरह मानते है और हाथ जोड़ने के बजाये सलामी देते है l अब आते है नरेन्द्र मोदी पर l अब तक आप यही सोच रहे होंगे की प्रधानमंत्री कौन सी जगह चले गये या कौन सी गलती कर डाली जिसके कारण उनकी कुर्सी खतरे में है ? तो चलिए आपको बताते है अमरकंटक के बारे में l

क्या हुआ जब नरेन्द्र मोदी पहुचे अमरकंटक

15 मई 2017 को मोदी अमरकंटक पहुचे थे जहा उन्हें नर्मदा सेवा यात्रा का समापन सम्रोग सम्पन्न करना था l 11 दिसम्बर 2016 को शुरू हुई ये यात्रा 148 दिनों का सफ़र तय कर अमरकंटक पहुची थी l अमरकंटक नर्मदा नदी का भी स्थान है जहा लोगो की श्रधा जुडी हुई है l अमरकंटक के बारे में मिथक है कि नर्मदा के उद्गम स्थल के आठ किमी के दायरे में जो भी हेलीकॉप्टर से आया, उसने सत्ता गंवाई l इलाके में चर्चा है कि इसी मिथक के चलते पीएम मोदी के लिए डिंडोरी जिले में अमरकंटक से आठ किमी की दूरी पर हेलीपेड बनाया गया है l बाकी की यात्रा उन्होंने कार से की l

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कहा जाता है कि जिस राजनेता ने भी नर्मदा नदी को लांघा है, उसे अपनी सत्ता गंवानी पड़ी है l पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के अलावा मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह, मोतीलाल वोरा, उमा भारती, सुंदरलाल पटवा, श्यामाचरण शुक्ल, केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल, पूर्व राष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत ने नर्मदा नदी को लांघा था, जिसके बाद उन्हें कुर्सी गंवानी पड़ी थी l

इन 5 राजनेताओ ने गवाई कुर्सी क्योंकि वो हेलीकाप्टर से पहुचे थे अमरकंटक

1. पूर्व उप-राष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत राष्ट्रपति चुनाव से पहले अमरकंटक हेलीकॉप्टर से आए, लेकिन उसके बाद उन्हें सत्ता गंवानी पड़ी l


2. एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय सुंदरलाल पटवा बाबरी मस्जिद ध्वंस से पहले हेलीकॉप्टर से अमरकंटक आए थे, लेकिन उसके बाद उन्हें भी कुर्सी गंवानी पड़ी l

3. एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय अर्जुन सिंह मुख्यमंत्री रहते हुए हेलीकॉप्टर से अमरकंटक आए थे, लेकिन उसके बाद उन्हें कांग्रेस पार्टी से अलग होकर नई पार्टी बनानी पड़ी l


4. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती सीएम रहते हुए 2004 में हेलीकॉप्टर से आई थीं l उसके बाद इन्हें भी कुर्सी गंवानी पड़ी l इसके बाद उमा भारती हमेशा सड़क मार्ग से अमरकंटक जाती हैं l

--- ये खबर वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गयी है वायरल इन इंडिया न्यूज़ पोर्टल के लिए

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े