मुसीबत में आए दिग्गज भाजपा नेता मनोज तिवारी, सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस, पढ़ें

शेयर करें

लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं एक के बाद एक पार्टी किसी ना किसी विवाद में फंसी चली जा रही है हाल ही में देश के शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बड़ा खुलासा कर वित्त मंत्री अरुण जेटली को मुसीबत में डाल दिया है।

1. सोशल मीडिया पर बीजेपी की जमकर हो रही किरकिरी

देश छोड़कर भागने से पहले अरुण जेटली से मुलाकात के बारे में खुलासा कर विजय माल्या ने पूरे भारत में हंगामा मचा दिया है। इस कड़ी में सोशल मीडिया पर भारतीय जनता पार्टी की काफी किरकिरी हो रही है और विपक्षी दल बीजेपी से अरुण जेटली के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

2. मनोज तिवारी ने दिल्ली में घर की तोड़ी सीलिंग

वहीं अब खबर सामने आ रही है कि बीजेपी नेता मनोज तिवारी भी एक नए विवाद में फंस गए हैं दरअसल मनोज तिवारी ने दिल्ली में यमुनापार एक घर की सीढ़ी को तोड़ दिया है जिसके चलते उन पर केस भी दर्ज किया गया है बता दें कि यह घर दिल्ली के गोकुलपुरी इलाके में हैं।

3. मनोज तिवारी के खिलाफ जारी हुआ अवमानना नोटिस

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मनोज तिवारी को मॉनिटरिंग कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर अवमानना का नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने 25 सितंबर तक मनोज तिवारी को कोर्ट में पेश होने के आदेश जारी किए हैं।

4. सुप्रीम कोर्ट ने मनोज तिवारी को लगाई फटकार

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी नेता मनोज तिवारी को लताड़ भी लगाई है। कोर्ट का कहना है कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक निर्वाचित प्रतिनिधि ने कोर्ट के आदेशों की अवहेलना की है। आपको बता दें कि जस्टिस मदन बी लोकुर जस्टिस अब्दुल नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने इस मामले में सुनवाई करते हुए ये आदेश जारी किये हैं।

5. नगर निगम और पुलिस द्वारा की गई थी कार्रवाई

आपको बता दें कि मनोज तिवारी पर गोकुलपुरी इलाके में स्थित एक घर की सीलिंग तोड़ने के आरोप में आईपीसी की धारा 641 के तहत कार्रवाई की गई है। यह कार्रवाई मनोज तिवारी पर नगर निगम और पुलिस की ओर से की गई है।

निष्कर्ष: गौरतलब है कि बीजेपी नेता अपनी मनमानी करते हुए इतना भी नहीं सोचते हैं की वह कानून की अवहेलना कर रहे हैं।


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े