शेयर करें
  • 33.9K
    Shares

लगता है इन दिनों भाजपा के सितारे गर्दिश में हैं. भाजपा की एक मुसीबत कम नहीं होती तो उधर दूसरी मुसीबत शुरु हो जाती है. अब ललित मोदी के खुलासे ने भाजपा की परेशानी बढ़ा दी है.

ललित मोदी ने सीधे सीधे आरोप जड़ दिया है कि उसे देश से भगाने में केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज एवं राजस्थान की तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने मदद की थी.

बताते चलें कि ललित मोदी भारत में धनशोधन और फेमा उल्लंघन के गंभीर आरोपों का सामना कर रहे हैं और इससे बचने के लिए विदेश भाग चुके हैं.

ललित मोदी का विस्फोटक दावा

पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी ने कहा कि राजस्थान की तत्कालीन मुख्यमंत्री और भाजपा नेता वसुंधरा राजे ने उनके विदेश भागने में उनकी बहुत मदद की थी. वसुंधरा राजे ने ही ब्रिटेन में उनके आव्रजन याचिका का लिखित समर्थन किया था. ललित मोदी ने कहा कि वसुंधरा राजे ने ही ब्रिटेन के अधिकारियों को गवाही वाला बयान दिया था.

सुषमा के साथ पारिवारिक रिश्ते


इतना ही नहीं ललित मोदी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ अपने निजी और पारिवारिक संबंध होने की बात बताते हुए कहा कि उनके पतिदेव ने ही उन्हें विदेश भागने के लिए तमाम कानूनी सुविधाएं निःशुल्क मुहैया कराई थी.

सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज भी ललित मोदी की वकील रह चुकी है. इसी से मामले की गंभीरता का अंदाजा लगाया जा सकता है. ललित मोदी ने सुषमा स्वराज के साथ अपना संबंध 20 साल पुराना बताया.

वसुंधरा से मेरे संबंध 30 साल पुराने

आईपीएल के पूर्व दागी कमिश्नर ललित मोदी ने कहा कि वसुंधरा राजे के साथ मेरे संबंध 30 साल पुराने रिश्ते हैं.

हम दोनों एक साथ छुट्टियां मनाने विदेश जाते रहते हैं. वहीं वसुंधरा ने भी यह स्वीकार किया है कि हमारे ललित मोदी के साथ पारिवारिक रिश्ते हैं. ललित मोदी ने कहा कि जब मेरी पत्नी बीमार थी तो वसुंधरा राजे उसका इलाज कराने अपने साथ पुर्तगाल ले गईं.

ललित मोदी ने यह भी कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया. पिछली यूपीए सरकार ने उनके साथ बदले की भावना से कार्रवाई की और उन्हें भगोड़ा बनने को मजबूर होना पड़ा.


शेयर करें
  • 33.9K
    Shares