ख़त्म हुई अडवानी की राजनीति, अब 5 साल के लिए जान पड़ सकता है जेल

शेयर करें

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता रह चुके लालकृष्ण आडवाणी बीते कुछ समय से पार्टी द्वारा नजरअंदाज किए जा रहे हैं। किसी वक्त पर पार्टी के लिए हुकुम का इक्का माने जाने वाले अडवाणी इस वक्त कौड़ी के भाव भी नहीं पूछे जा रहे हैं।

1. बीजेपी के संस्थापकों में से एक अडवाणी

गौरतलब है कि लालकृष्ण आडवाणी का नाम बहुचर्चित विवाद बाबरी मस्जिद विध्वंस के साथ जुड़ा हुआ है। 6 दिसंबर सन 1992 में हुए बाबरी विध्वंस में बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी समेत कई हिंदूवादी नेताओं का नाम सामने आया था। इस मामले में अभी भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

2. बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़ा है नाम

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के 19 अप्रैल के निर्देश पर सीबीआई की विशेष अदालत अब बाबरी विध्वंस मामले में डे टू डे सुनवाई कर रही है ताकि इस मामले में 2 साल के अंदर-अंदर ही फैसला सुनाया जा सके। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और हाजी महबूब अहमद द्वारा दायर दो याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए बड़ा फैसला सुनाया है।

3. अडवाणी समेत 12 नेताओं को हो सकती है 5 साल की जेल

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला अगर इन बीजेपी नेताओं के खिलाफ आता है तो लालकृष्ण आडवाणी मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 12 नेताओं को 5 साल की सजा हो सकती है। माना जा रहा है कि अडवाणी की मुश्किलें आने वाले लोकसभा चुनाव से पहले बढ़ सकती है।

4. धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचना गंभीर अपराध

खबर के मुताबिक अगर यह है बीजेपी नेता बाबरी विध्वंस मामले में दोषी करार दिए जाते हैं तो इन्हें जेल की हवा खानी पड़ सकती है। गौरतलब है कि किसी भी धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचाने की मंशा से किए गए ऐसे कृत्यों के लिए तीन साल की जेल का प्रावधान है।

5. मोदी के गुरु रह चुके हैं आडवाणी

गौरतलब है कि 80 की उम्र पार कर चुके लालकृष्ण आडवाणी प्रधानमंत्री मोदी के गुरु माने जाते हैं। इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि साल 2002 के गुजरात दंगों के मामले में मोदी को बचाने वाले लालकृष्ण आडवाणी ही थे।

निष्कर्ष:

माना जा सकता है कि ये बीजेपी नेता जेल जाते हैं तो ये इन बीजेपी नेताओं के बुरे कर्मों का ही फल है।

Story Source: http://viralinindia.net/bjp/lal-krishna-jail/11069/


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े