सुप्रीम कोर्ट के जज ने मोदी और भाजपा से ये क्या पूंछ लिया?

मार्कंडेय काटजू- इस नाम से तो आप सब भलीभांति परिचित होंगे ! काटजू सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज और प्रेस काउन्सिल ऑफ़ इंडिया के पूर्व चेयरमैन भी रह चुके हैं और देश में घटित तमाम घटनाओ पर अपनी प्रतिक्रिया और अपना पक्ष हमेशा से ही रहते आये हैं जिसकी वजह से लोगों का एक तबका उनसे खफा रहता है क्योकि वो लोग सच बर्दास्त नहीं कर पाते !

 

क्या कहा काटजू ने?

हफिंग्टन पोस्ट नाम की वेबसाइट में अपना लेख लिखते हुए काटजू ने भाजपा को उसकी जीत के लिए बधाई दी और भाजपा से विकास और जिन नौकरियों को चुनाव के पहले देने का वादा किया था उसके बारे में सवाल किया ! दरअसल काटजू ने भाजपा को उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड में सरकार बनाने के लिए बधाई दी थी और भाजपा हाल ही में गोवा और मणिपुर में भी अपनी सरकार बना सकी !

क्या कहा था भाजपा ने…?

दरअसल चुनाव के पहले बड़े बड़े वादे करते हुए भाजपा आने कहा था कि हम विकास के नाम पर ये करेंगे वो करेंगे और हर क्षेत्र में नयी नयी जॉब लायेंगे ! लेकिन जॉब कहाँ है? भाजपा इतने समय से सत्ता में है और भाजपा ने अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया ! जब से भाजपा आई देश में विकास के नाम पर रत्ती मात्र भी कुछ नहीं देखा गया ! बस ये बड़े बड़े लफ्ज इनके चुनावी जुमलों तक ही सीमित थे !

हाँ बदलाव के नाम पर सिर्फ एक चीज भाजपा राज में देखी गयी है और वो है 500 और 1000 के नोट ! जिसकी वजह से जन साधारण को कितनी ही समस्यायों का सामना करना पड़ा और कितने ही लोग तो इस बदलाव से मौत की गोद में सो गये ! माने बदलाव भी ऐसा कि जिससे नुकसान ही हुआ !

काटजू ने अपने आर्टिकल में इस बात का जिक्र किया है कि 2015 में उत्तरप्रदेश सरकार ने चतुर्थ श्रेणी की नौकरी के लिए 368 पोस्ट निकाली थी और उसके लिए 23 लाख आवेदन थे जो वास्तव में हैरान कर देने वाला आंकड़ा है !

इन 23 लाख में 255 पीएचडी होल्डर्स थे और २ लाख से ज्यादा लोगों के पास एमएससी MBA और बी टेक जैसी डिग्रियां थी और ऐसे लोग चपरासी की नौकरी के लिए आवेदन करने को मजबूर थे ! ऐसा ही हाल मध्यप्रदेश में था जब पुलिस कॉन्स्टेबल की नौकरियां निकली थी !

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें