बीच सभा में जेटली से पूछा गया एक ऐसा सवाल जिसका जेटली के पास जवाब ही नहीं था

शेयर करें

अरुण जेटली भाजपा सरकार के इकलौते ऐसे मंत्री है जिसे जनता ने नापसंद किया उसके बाबजूद उन्हें मंत्री बनाया गया और न सिर्फ मंत्री बनाया गया बल्कि बहुत अहम मंत्रालय उनके अंडर दिए गये | ऐसे ही बुलेट ट्रेन के ऊपर एक मीडिया कांफ्रेंस में जेटली थे और वहां ऐसा सवाल आया कि जेटली बौखला गये |

ऐसा क्या पूछा गया जेटली से

वित्त मंत्री अरुण जेटली दिल्ली में कार्यक्रम के दौरान एक शख्स के ऊपर भड़क गए. दरअसल, जेटली दिल्ली में एक सेमिनार के दौरान बुलेट ट्रेन पर बातचीत कर रहे थे, तभी एक शख्स ने बीच में पूछा, अरुण जी, बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्या कहते हैं?’ इस पर जेटली ने कहा, ‘प्लीज थोड़ा सीरियस हो जाएं.

आपको पहले भी नोटिस किया जा चुका है. इसलिए थोड़ा सीरियस होने का प्रयास कीजिए.’ बुलेट ट्रेन का हिंदी में मतलब पूछने वाला शख्स यहीं नहीं रुका. उसने वित्त मंत्री से कहा कि ‘ये मजाक नहीं बड़ा गंभीर सवाल है.’

https://www.youtube.com/watch?v=ybwW5cdKpDo

ये है बुलेट ट्रेन का प्रोजेक्ट

आपको बता दें कि जापान के पीएम शिंजो आबे और नरेंद्र मोदी ने 14 सितंबर को अमदाबाद के साबरमती स्टेडियम ग्राउंड में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट की नींव रखी थी। ये प्रोजेक्ट 2022 तक पूरा हो जाएगा। यह ऐसी ट्रेन होगी जो 508 किमी का सफर तीन घंटे में तय करेगी।

इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 1.20 लाख करोड़ है। इसके लिए जापान भारत को 50 साल के लिए करीब 88 हजार करोड़ रुपए का कर्जा दे रहा है। इस प्रोजेक्ट में ट्रेन-ट्रैक-इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हर किलोमीटर के लिए 263 करोड़ रुपए लगेंगे।

एक व्यक्ति जिसे पहली बार जनता ने नकार दिया और जिसके फैसले की वजह से लोग ऐसे नोट्बंदी का श्राप झेल रहे और जिसे हिंदी-हिंदी कहने के बाद भी हिंदी न आती हो ऐसा व्यक्ति  जब देश का वित्त मंत्रालय संभालता है तो आप सोच सकते हैं कि देश किस दशा और दिशा में जा रहा है |


शेयर करें