सावधान! नरेन्द्र मोदी ने कहा ‘गोरक्षा के नाम पर किसी की हत्या स्वीकार्य नहीं’

शेयर करें

गौ रक्षा के नाम पर हो रही हत्याओ ने मादी सरकार की साख पर कई बार बट्टा लगाया है और बीजेपी के कई नेताओ पर ये इल्ज़ाम है की वो गौरक्षक दल को सपोर्ट करते है और अल्पसंख्यको के खिलाफ कार्यवाही करवाते है l कांग्रेस ने ये मुद्दा संसद में कई बार उठाया और देश में बढ़ रही ‘असहिशुणता’ के खिलाफ मार्च भी निकला l अंत में मोदी को अपने भाषण में गौरक्षको के खिलाफ दो शब्द कहने ही पड़े जिससे की कुछ वक़्त के लिए मामला शांत हो जाये l

क्या कहा नरेन्द्र मोदी ने!

पीएम मोदी ने को कहा कि ‘गौ-भक्ति’ के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जा सकती। यहां साबरमती आश्रम में दिए गए भाषण में मोदी ने कहा, “समाज में हिंसा की कोई जगह नहीं है।” “गौ-भक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी। महात्मा गांधी आज होते तो इसके खिलाफ होते।” यू तो बीजेपी सरदार वल्लभ भाई का चेहरा इस्तेमाल करती है, चूँकि गाँधी जी एक शांति प्रिय नेता थे, बीजेपी को यहा गाँधी जी का सहारा लेना ही पडा l

“हिंसा करना राष्ट्रपिता के आर्दशों के विरूद्ध है”

मोदी ने कहा कि दूसरों के खिलाफ हिंसा करना राष्ट्रपिता के आर्दशों के विरूद्ध है। उन्होंने कहा,  गौ भक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं है। इसे महात्मा गांधी कभी स्वीकार नहीं करते। प्रधानमंत्री ने कहा, चलिए सभी मिलकर काम करें। महात्मा गांधी के सपनों का भारत बनाते हैं। एक ऐसा भारत बनाते हैं जिस पर हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को गर्व हो। उन्होंने कहा,  देश में किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।

पीएम के तेवरों में वो दम नहीं दिखा

हिंसा के खिलाफ अगर कभी आपने कभी मोदी को भाषण देते देखा हो तो उनकी आवाज़ में गर्मी और वज़न दोनों देखने को मिलता है फिर यहा क्यों नहीं ?

देखिये वीडियो:-


शेयर करें

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े