भाजपा राज में पुलिस ने किसानों के कपडे उतारकर पीटा

भाजपा राज में किसानों की क्या हालत है वो जगजाहिर है और जब किसानों ने मप्र में जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने के लिए कांग्रेस के साथ आन्दोलन किया और इस संदर्भ में कलक्टर को ज्ञापन दिया तो पुलिस से उन किसानों की कहासुनी हो गयी । मामले को पुलिस ने इतना बड़ा दिया कि लाठीचार्ज हुआ और आंसू गैस छोड़ी गयी ।

क्या क्या हुआ किसानों के साथ

किसानों के साथ सरकार की सह पर ऐसा सलूक हुआ  जैसे वो अपने हक की मांग करने वाले किसान नहीं कोई आतंकवादी हो । जब किसानों के आन्दोलन ख़त्म किया और वापस घर आरहे थे तभी पुलिस ने उन्हें रोक लिया और थाने ले गये । यहाँ एक किसान ने मीडिया को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि उन लोगों को थाणे में ले जाकर पीटा गया । यहाँ बाद में पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह ने थाणे जाकर किसानों को रिहा कराया ।

क्या था पूरा मामला

यहाँ पर कांग्रेस ने किसानों के लिए खेत बचाओ-किसान बचाओ नाम से आन्दोलन किया था और जब यहाँ पर कलक्टर साहब आये तो किसानों को बुरी तरह दौड़कर पीटा गया । उन पर पानी बरसाया गया और आंसू गोले तक दागे गये । यहाँ कांग्रेस नेता एक ही बात कर रहे थे कि वो कलेक्टर को ज्ञापन दिए बिना नहीं जायेगे । लेकिन तकरीबन 1 घंटे तक कलेक्टर साहब दफ्तर से नीचे ही नहीं आये और हालात धीरे धीएरे बिगड़ते गये ।

हादसे में हुआ ये नुकसान

हादसा कोई भी हो वो नुकसान ही करता है तो यहाँ पर भी इस मामले में तकरीबन 3 दर्जन किसान और पुलिस वाले घायल हुए है । यहाँ बहुत अफरा तफरी का माहौल बन गया था । आन्दोलन में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुणाल चौधरी, पूर्व मंत्री यादवेंद्र सिंह, कांग्रेस महासचिव बृजेंद्र सिंह, खरगापुर विधायक चंदा सिंह गौर सहित कांग्रेसी नेता और किसान आए थे।

बताया जा रहा है कि माहौल कलेक्टर की वजह से ख़राब हुआ । कलेक्टर के पास सिर्फ 8-10 लोग ही ज्ञापन देने गये थे लेकिन उन्होंने तकरीबन 1 घंटे का इन्तजार कराया और फिर ये लोग वहीँ उनके दफ्तर के बाहर अनशन पर बैठ गये ।

पुलिस ने अपनी सफाई में कहा ये

एसपी का कहना है कि किसानों को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। यदि लॉकअप में इस तरह की घटना हुई तो जांच कराई जाएगी।कलेक्टर के मुताबिक, प्रदर्शन में एक भी किसान घायल नहीं है। मैंने जांच के लिए एसडीएम को मौके पर भेजा था।

देखिये वीडियो:-

Source-https://www.bhaskar.com/news/MP-BPL-HMU-police-brutality-in-tikamgarh-farmers-beaten-5711482-PHO.html?seq=6

 

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें