ये है भाजपा के 3 दिग्गज नेता, जिनके कोंग्रेस, आप और सपा वाले भी फ़ैन है

भाजपा के अंदर यूं तो बहुत से नेता हैं लेकिन आज हम उन तीन नेताओं के बारे में बात करने जा रहे हैं जो आजकल बहुत ज्यादा फॉर्म में दिखा रहे हैं | इन नेताओं की फेहरिस्त में अरुण शौरी,यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा के बारे में मैं आपको बताता हूँ कि आजकल ये लोग पार्टी में रहकर भी क्या क्या कर रहे हैं |सबसे पहले हम बात करते हैं अरुण शौरी की |

अरुण शौरी भाजपा के बड़े नेता हैं और केन्द्रीय मंत्रीमंडल में भी शुमार हैं | इन्होने तो प्रधानमंत्री मोदी पर ही सीधा हमला बोल दिया था | एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने मोदी के बारे में बात करते हुए कहा कि मोदी को सर्मथन देना उनकी सबसे बड़ी भूल थी | इसके पहले भी शौरी मोदी सरकार और उनकी नीतियों की जमकर आलोचना कर चुके हैं |

शौरी ने मोदी की नोट्बंदी की स्कीम को अब तक का सबसे बड़ा मनी लोंड्रिंग करार दिया था | उन्होने कहा था कि समस्या आर्थिक नहीं बल्कि सरकार का ढांचा हैं |अभी हाल ही में एक सभा में उन्होंने मोदी के लिए पाकिस्तान के एक शायर का शेर भी पढ़ा जिसपर बहुत तालियाँ बजायी गयी |

देखिये वीडियो:-

अब बात करते हैं हम भाजपा के बड़े नेता यशवंत सिन्हा की | ये अटल सरकार में वित्त मंत्री भी रह चुके हैं और भाजपा के वरिष्ठ नेताओ में सुमार हैं | ये हमेशा भाजपा सरकार में होने के बाद भी भाजपा की आलोचना करते हुए देखे जाते हैं | अभी हाल ही में उन्होंने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों को लेकर निशाना बनाया और ‘राजशक्ति’ पर अंकुश के लिए ‘लोकशक्ति’ का आह्वान किया |

इन्होने मोदी सरकार से सवाल उठाये कि कारें और मोटरसायकिल ज्यादा बिकना प्रगति है क्या? ये भाजपा में होने के बाद भी कांग्रेस द्वारा समर्थित एक गैर सरकारी संस्था के न्योते पर गुजरात गये थे और वहां पर उनके कार्यक्रम में भी सिरकत की थी |इस NGO का नाम लोकशाही बचाओ था जिसके लिए उन्होंने अहमदाबाद,राजकोट और सूरत जैसी जगहों पर व्याख्यान भी दिए हैं |

देखिये वीडियो:-

इनके बाद हम आखिरी में बात करेंगे भाजपा के तीसरे बागावती तेवर वाले नेता शत्रुघ्न सिन्हा की | इन्होने तो मोदी,जेटली सहित स्मृति ईरानी पर ही निशाना साध लिया | इन्होने यहाँ तक कह दिया कि भाजपा गुजरात चुनाव नहीं जीतेगी | उंनका कहना था कि नोट्बंदी और GST की वजह से जनता में गुस्सा बहुत है अतः गुजरात का चुनाव सिर्फ चुनाव नहीं बल्कि भाजपा के लिए एक चुनौती है |

इन्होने कांग्रेस के बड़े नेता मनीष तिवारी की किताब के लोकार्पण में सिरकत करते हुए तिवारी के साथ मंच साझा किया और उसी मंच से जेटली मोदी आदि अपने पार्टी के लोगों पर निशाना साधते हुए बोले कि जब एक वकील वित्तीय मामले की बात कर सकता है और एक टीवी एक्ट्रेस मानव संसाधन विकास मंत्री बन सकती है और एक चाय वाला….. बन सकता है तो वो क्यों नहीं आर्थिक मामलों की बात कर सकते हैं ?

सिन्हा का कहना है कि वो अपनी पार्टी के खिलाफ नहीं है और  न बोल रहे हैं बल्कि वो अपनी पार्टी को आइना दिखाने का काम कर रहे हैं | सिन्हा ने अभी जय शाह के मामले में भी बोलते हुए कहा था कि इसकी जांच होनी चाहिए | यहाँ तक की इन्होने तो  ये तक कह दिया कि भाजपा को ‘वन मैंन शो’ और ‘दो सैनिको की सेना’ नहीं होना चाहिए |

देखिये वीडियो:-

Source:http://thewirehindi.com/20389/arun-shourie-demonetisation-gst-modi-government/

http://www.bbc.com/hindi/india-40235229

 

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट मैं छोड़े

पोपुलर खबरें