वीडियो-भाजपा में शोक की लहर, CM की सभा में मंच से लुढ़क गये भाजपा नेता, हो गयी मौत

कभी कभी ऐसी घटनाएँ हो जाती है जिनके होने पर हमको यकीन ही नहीं होता है | ये घटनाएँ किसी भी दल या व्यक्ति से जुड़ीं हो लेकिन ऐसा होने पर दुःख होता है क्योकि अभी तक हमारे अंदर तो मानवीय संवेदनाएं बकाया है बांकी का हमें मालूम नहीं है | कहीं भी किसी की भी मौत हो जाए चाहे फिर वो हमारा दुश्मन ही क्यों न हो पर उस समय दुश्मनी भुलाकर उसके ग़म में शामिल होना हमें हमारा मजहब सिखाता है |

सागर में कार्यक्रम के दौरान भाजपा नेता की हुई तबियत ख़राब

मामला मप्र के शहर सागर का है जहाँ पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सभा का आयोजन था | इस सभा में छोटे कार्यकर्ताओं से लेकर बड़े बड़े नेता तक शामिल थे | यहाँ पर शिवराज सिंह के साथ जिले से बड़े बड़े नेता और मंत्री लोग भी मंच पर बैठे हुए थे | यहाँ मंच पर सभा के ही दौरान सागर जिले से भाजपा के जिलाध्यक्ष राजा दुबे की तबियत ख़राब होने लगी और तबियत कुछ ऐसे खराब हुई कि वो मंच पर ही गिर पड़े |

लोगों ने तुरंत आनन फानन में उनको उठाया और अस्पताल लेकर गये लेकिन इलाज के दौरान ही उनका इंतकाल हो गया | डॉक्टर्स ने बताया है कि राजा दुबे को दिल का दौरा आया था जिसकी वजह से उनकी मौत हुई है |

आगया था दिल का दौरा

बताया जा रहा है कि सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सागर के बंडा में सभा थी जहाँ पर मंच पर राजा दुबे और नेताओ के साथ मौजूद थे | सभा से पहले ही मंच पर बैठे हुए राजा दुबे को दिल का दौरा आगया और वो अपनी कुर्सी पर से नीचे गिर पड़े | यहाँ कार्यकर्ताओं ने बिना देर किये हुए उनके जूते निकालकर उनके हाथ पैर रगड़ना शुरू कर दिया लेकिन शरीर में कोई हरकत नहीं हो रही थी |

जब मामला हाथ से बाहर जाता दिखा तो उन्हें तुरंत सागर के ही एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया जहाँ इलाज के दौरान डॉ उन्हें बचा नहीं पाए और उनकी मौत हो गयी | यहाँ पर शिवराज सिंह का विकास यात्रा के तहत कार्यक्रम था | शिवराज सिंह चौहान के पहुँचने के पहले ही यहाँ मंच पर राजा दुबे को दिल का दौरा आगया और वो मंच से गिर पड़े |

शिवराज सिंह को मिल चुकी थी सूचना

सूत्रों के हवाले से खबर ऐसी है कि शिवराज को मंच पर जाने के पहले ही राजा दुबे के बारे में जानकारी मिल गयी थी लेकिन शिवराज ने वहां जाकर अपना भाषण शुरू कर दिया और वहीँ गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह और मंत्री गोपाल भार्गव राजा दुबे के साथ ही अस्पताल में मौजूद रहे |

जब राजा की मौत हो गयी तो अस्पताल से लौटकर पर्ची पर लिखकर मंत्री गोपाल ने शिवराज के पास राजा की मौत की खबर पहुंचा दी | लेकिन इसके बाद में शिवराज रुके नहीं और अपना भाषण देते रहे और खत्म होने के बाद सीधे अपने हेलिकोप्टर से निकल गये | उन्होंने अस्पताल जाकर अपने कार्यकर्ता के ग़म में शामिल होने तक की जहमत नहीं की |

देखिये वीडियो:-

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें