विडियो: देखिये कैसे अरविन्द केजरीवाल ने मोदी के बुलेट ट्रेन का किया पर्दाफाश

जुमलेबाजी को 4 साल पूरे होने वाले है और लोगो ने इस बात का जश्न सोशल मीडिया में मनाना शुरू कर दिया है | कुछ ने मोदी सरकार के काम (भाषणों ) की तारीफ के पुल बांधे और कुछ ने उनके कामो से दुखी होकर खरी खोटी सुनाई |

बात बुलेट ट्रेन की होगी, मोदी जी ने सपने तो बुलेट ट्रेन के भी दिखाए है लेकिन ये कितना सच होगा ये अभी पता नही लग पाया |

बुलेट ट्रेन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक विश्लेष्ण किया था जिसमे उन्होंने बताया की ये सफ़र भारतवासियों के लिए महंगे का सौदा होगा |  उन्होंने बताया कि, मोदी जी जिस बुलेट ट्रेन लाने की बात कर रहे है उसका बजट 60 हजार करोड़ रूपये है। मोदी जी ने यह भी बताया कि, यह बुलेट ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई की ओर चलेगी, जो दो घंटे के अन्दर सफ़र तय कर लेगी।

अरविन्द केजरीवाल ने यह भी बताया कि, बजट के हिसाब से इसका किराया 75 हजार रूपये प्रति शख्स होगा जो बहुत ज्यादा होगा। यह किराया तो प्लेन टिकट से भी ज्यादा है। जबकि, प्लेन टिकट का किराया अहमदाबाद से दिल्ली 4 हजार रूपये है और प्लेन से भी कोई शख्स दो घंटे के अन्दर सफ़र कर सकता है।

बुलेट ट्रेन की बात करने वाले मोदी जी देश में चल रही आम ट्रेनों का हिसाब किताब ठीक से नही सम्भाल पा रह है | आये दिन रेल हादसों ने देश की जनता में डर का माहौल बना दिया है |

रेलवे का किराया भी आये दिन बढ़ता है जिसे रेलवे की हालत सुधारने के नाम पर लिया जाता है | अभी हाल ही में इंदौर-पटना एक्सप्रेस ट्रेन का भयंकर एक्सीडेंट हुआ था कानपुर में जिसमें 142 देशवासियों की जान चली गई थी।

नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने से पहले देश कि जनता को यह भरोसा दिलाया था कि, “मैं सत्ता में आते ही भ्रष्टाचार को मिटा दूंगा, बेरोजगारी मिटा दूंगा और देश वासियों के अच्छे दिन आ जायेंगे।

जिस तरह मोदी जी ने अच्छे दिनों का वादा किया था, अच्छे दिन तो नहीं आये लेकिन नोटबंदी के बाद देशवासियों के बुरे दिन जरुर शुरू हो चुके है। अगर किसी के अच्छे दिन शुरू हुए है तो वह अडानी और अंबानी के शुरू हुए है। जब से सत्ता में मोदी सरकार आई है सिर्फ वादे ही किये और ढाई साल के अन्दर देश के विकास के लिए कोई काम नहीं किया।

देखिये वीडियो:-

News Source: http://exposekhabar.com/kejriwal-exposed-modi-bullet-train-know-real-truth-about-indian-railway-system/

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें