शेयर करें
  • 32.1K
    Shares

2014 में मोदी लहर के बावजूद बुरी तरह अपनी सीट हारने वाले केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की संपत्ति की जानकारी मिलने के बाद आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे.

आश्चर्य होगा कि कहां से जेटली के बाद इतनी दौलत आ गई. वित्त मंत्री का पद क्या कोई नोट छापने की मशीन है जिसने जेटली को अरबपतियों की सूची में अव्वल स्थान पर शामिल कर दिया है. वाकई, ये जांच का विषय है कि जेटली के पास इतनी अकूत धन संपदा आखिर आई कहां से ?

दिन दोगुनी रात चौगुनी हुई जेटली की संपत्ति

जेटली ने जब 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ा था, तब उन्होंने अपनी कुल संपत्ति 71.56 करोड़ रुपये बताई थी और पत्नी की संपत्ति 41.46 करोड़ रुपया दर्शाया था.

शपथ पत्र में दी गई जानकारी के अनुसार जेटली के पास करीब 114 करोड़ रुपये की चल अचल संपत्ति थी. लोकसभा चुनाव हारने के बाद जेटली राज्यसभा चुनाव लड़ने पहुंच गए.

इस दौरान उन्होंने अपनी संपत्ति में कमी और पत्नी की संपत्ति में बढ़ोतरी दिखा कर लोगों की आंखों में धूल झोंकने जैसा काम किया.

कौन से उद्योग के मालिक हैं जेटली

जेटली की संपत्ति की यह जानकारी राज्यसभा चुनाव के दौरान दिए हलफनामे से सामने आया है. इसमें तथ्यों की हेराफेरी और संपत्ति का मूल्य निर्धारण न्यूनतम दर से शामिल हो सकता है क्योंकि जेटली आंकड़ों और तथ्यों में हेराफेरी के मास्टरमाइंड हैं.

असल में उनके पास इस दिए आंकड़े से दोगुनी संपत्ति होने का अनुमान लगाया जा सकता है. लोगों की इस बात पर संदेह है कि जेटली आखिर कोई उद्योगपति हैं क्या जो अरबों रुपये की संपत्ति उनके पास आ गई. इतनी संपत्ति तो किसी संपन्न उद्योगपति के पास ही होती है.

इतने बैंकों में जेटली के खाते

जेटली की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार नई दिल्ली के एसबीआई में उनके नाम पर करीब 65 लाख रुपये, एचडीएफसी बैंक में 19 लाख रुपये और अन्य बैंकों में करीब 40 लाख रुपये जमा हैं.

इसके साथ ही उनके पास अलग अलग कंपनियों में 18 करोड़ रुपये का निवेश है. उनकी पत्नी के नाम पर भी 18 लाख रुपये की रकम बैंक में जमा है.

इसके साथ ही जेटली के पास भारत के अलग अलग शहरों में दर्जन भर कीमती जमीनें हैं. गहनों की बात करें तो किलो के भाव से हीरे जवाहरात, सोने जेटली दंपत्ति के पास मौजूद है.


शेयर करें
  • 32.1K
    Shares