शेयर करें

हाल ही में भारत ने एक ऐसी उपलब्धि हासिल की है जिस पर हर भारतीय को गर्व होगा और सही मायनों में जिसे विकास भी कहा जायेगा | लेकिन क्या ये मोदी जी वाला विकास है जो हर वक़्त सोशल मीडिया में ट्रेंडिंग रहता है? इस बार हकीक़त के विकास की बात करेंगे जिस पर खुद विश्व बैंक की रिपोर्ट ने मोहर लगायी है |

शुरू से भारत विश्व कारोबारी की लिस्ट में एक अच्छी रैंक हासिल करने की जद्दोजहद में था जो हाल ही में पूरा हुआ | विश्व कारोबारी रैंक में भारत 130वें स्थान से 100वें स्थान पर आ गया जिसका क्रेडिट कुछ लोग मोदी जी को दे रहे है | लेकिन जब यह जाना गया की यह उपलब्धि हासिल करने के पीछे मापदंड क्या थे तो मोदी जी का नाम लेना गलत साबित हो जाता है |

क्या कहती है विश्व बैंक की रिपोर्ट?

दरअसल विश्व बैंक की रिपोर्ट में ही साफ़ साफ़ लिखा गया है की जिन कारणों से भारत को विश्व कारोबारी के 100 वे रैंक पे लाया गया है उसमे कारोबार की सुगमता ही मेन मुद्दा है |

‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ की लिस्ट में दिल्ली और मुंबई सबसे आगे है जिनकी सुगमता के आधार पर यह रिपोर्ट बनायीं गयी | मुंबई हमेशा से ही बेहतर स्थान रहा है व्यापार करने के लिए लेकिन रैंक में सुधार की वजह है इस बार दिल्ली | दिल्ली में कारोबार की सुगमता के कारण भारत को हासिल हुई यह रैंक |

रिपोर्ट में आगे ज़िक्र किया गया है कारोबारियों को बिजली कनेक्शन मिलना | रिपोर्ट के मुताबिक जहां पहले दिल्ली में कारोबारियों को बिजली कनेक्शन लेने में 138 दिन लग जाते थे वहीं अब मात्र 45 दिनों में यह उपलब्ध कराया जाता है। जिन मानकों पर लिस्ट बनाई गई है जिनमें बिजली टैक्स अदायगी, व्यापार का विस्तार और कॉन्ट्रैक्ट के लागूकरण जैसे मानक हैं।

जश्न मनाती भाजपा को यह रिपोर्ट ज़रूर पढ़ लेनी चाहिए

ज़ाहिर सी बात बिजली सुगमता से मिलना अरविन्द केजरीवाल के शासनकाल और कार्यप्रणाली का ही नतीजा है जिससे यह बदलाव आया है | विश्व कारोबारी रैंक में भारत 130वें स्थान से 100वें स्थान पर आ गया जिसे देख कर भाजपयियो में उत्साह की एक लहर है और वो इसका ज़िम्मेदार मोदी को मान रहे है |

लेकिन रिपोर्ट कुछ और ही पेश करती है | उन्हें इसके मानक जान लेने चाहिए की भारत को किस तर्ज पर 100 वे रैंक पे रखा गया है | विडियो में देखे अरविन्द केजरीवाल की उम्दा स्पीच!

देखिये वीडियो:-

Source:http://boltahindustan.com/doing-business-is-being-easier-due-to-delhi-govt-led-by-arvind-kejriwal

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े