विडियो: EVM मे हुई गडबडी का कुछ इस तरह से किया किन्नर समाज ने विरोध

ईवीएम का भंडाफोड़ करने वाली बहुजन समाजवादी पार्टी की नेता मायावती ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी पर आरोप लगाया था| जिसमे उन्होंने कहा था की जिस क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय ज्यादा है वहा भी बीजेपी अधिक मात्रा में कैसे वोट हासिल कर सकती है? खैर, जब बात जनता की जागरूकता की हो रही हो तो इसमें हर वर्ग आता है | किन्नर समाज भी |

एक ऐसा विडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है जिसमे किन्नर समाज वोटिंग बूथ पर जमकर हंगामा कर रहे है | बताया जाता है की ये सब ईवीएम में गडबडी के कारण हुआ जिस दौरान किन्नरों ने पोलिंग बूथ पर जमकर तोड़ फोड़ की | यह विडियो 18 साल से कम उम्र के लोग न देखे |

देखिये वीडियो:-

आप पार्टी: किसी भी बटन को दबाओ, वोट भाजपा को ही जा रहा था

ईवीएम के मामले में पैनी नज़र रखने वाली आम आदमी पार्टी ने हाल ही में कुछ ऐसे सबूत और दावे पेश किये है जिन्हें नज़रंदाज़ नही किया जा सकता | आप पार्टी के लखनऊ प्रवक्ता ने बताया की कई जगह ऐसी भी ईवीएम मशीने पकड़ी गयी है जहा बटन दबाने पे वोट भाजपा को ही जा रहा था |

चुनाव अधिकारीयों द्वारा मशीन के खराब होने और उसको बदले जाने पर पार्टी प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने सवाल उठाया कि मशीन खराब होने पर उसका फायदा एक ही पार्टी को क्यूँ मिल रहा है, किसी भी अन्य पार्टी को वोट कभी क्यों नहीं जाता?

चुनाव आयोग: पुरानी मशीने सुरक्षित नही है!

आप पार्टी के इतने सबूत पेश करने के बाद चुनाव आयोग भी यह माना की पुराणी मशीने सुरक्षित नही है | प्रदेश प्रवक्ता वैभव महेश्वरी ने कहा की स्वयं चुनाव आयोग ने यह माना है की मशीनों को बदले जाने की आवश्यकता है, हजारों मशीनों की खरीद का आर्डर भी दिया जा चुका है, तो फिर ऐसी क्या मजबूरी या साजिश है कि उन्ही पुरानी ईवीएम मशीन से ही चुनाव करवाए जा रहे हैं?

क्या चुनाव आयोग भाजपा के इशारे पर काम कर रहा है?

पार्टी प्रवक्ता ने चुनाव आयोग की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए कहा की इतने खुले रूप से धांधलिया सामने आने के बाद भी यदि चुनाव आयोग कोई कार्यवाही नहीं करता, तो ये समझा जाना चाहिए की वो सत्ताधारी दल भाजपा को फायदा पहुँचाने की इस साजिश में शामिल है।

पार्टी प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने एक और मामला बताया कि अयोध्या नगर निगम क्षेत्र में देखा गया कि वार्ड पार्षद और मेयर चुनाव की दोनों ईवीएम के बटन एक साथ दबाने पर ही वोट स्वीकार हो रहा था अन्यथा नहीं। उन्होंने कहा कि इस गंभीर गड़बड़ी की जाँच की जाये और इसको दूर किया जाये।

इसके अलावा आप पार्टी बैलट पेपर से चुनाव करवाने के लिए अड़ी हुई है और बीजेपी पार्टी को चुनौती भी दे रही है की हिम्मत है तो बीजेपी बैलट पेपर से चुनाव लड़े|

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

पोपुलर खबरें