भाजपा के इस दिग्गज मंत्री ने दिया आम आदमी पार्टी को समर्थन...! - वायरल इन इंडिया - Viral in India - NEWS, POLITICS, NARENDRA MODI

भाजपा के इस दिग्गज मंत्री ने दिया आम आदमी पार्टी को समर्थन…!

चुनाव आयोग ने दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता को अयोग्य करार कर दिया है। चुनाव आयोग ने विधायकों की सदस्यता खत्म करने के लिए राष्ट्रपति से सिफारिश की है।

इसके बाद से दिल्ली ही नहीं पूरे देश की राजनीति में हलचल मच गई है। AAP विधायकों को लेकर राजनीतिक गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।

जहां आम आदमी पार्टी इस मुद्दे को अब कोर्ट में ले गई है तो वहीं भारतीय जनता पार्टी अभी भी इस मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है। गौरतलब है कि 20 विधायकों की सदस्यता पर खतरा मंडराने के चलते चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी के लिए संकट खड़ा कर दिया है।

भाजपा सांसद ने दिया साथ

इस मुश्किल घड़ी में पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का साथ मिला है। शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर जताया समर्थन किया है। भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी का समर्थन किया है। सिन्हा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि

‘AAP’ Aaye,

‘AAP’ Chhaye,

‘AAP’ hi ‘AAP’ Charcha ke Vishaye (talk of the town)!!

Ghar ghar mein,

Har khabar mein,

Toh phir kis baat ki fikar ‘AAP’ ko?

Politics of vendetta or politics of vested interests just don’t last long।

Don’t worry, be happy!

— Shatrughan Sinha (@ShatruganSinha) January 21, 2018

‘आप’ आए, ‘आप’ छाए, ‘आप’ ही ‘आप’ चर्चा के विषय। घर घर में, हर खबर में तो फिर किस बात की फिक्र ‘आप’ को? इस तरह की राजनीति ज्यादा दूर तक नहीं टिकती, निश्चिंत रहिए और खुश रहिए।

वहीं अगले ट्वीट में सिन्हा ने लिखा कि ‘मैं उम्मीद और कामना करता हूं कि आप को जल्दी ही न्याय मिलेगा। ‘आप’ टीम और खासकर ‘आप’ को बहुत-बहुत बधाई, ध्यान रखें हितों की राजनीति ज्यादा दिन तक नहीं चलती। चिंता मत करें। खुश रहें, सत्यमेव जयते..जय हिंद’।

EC ने 20 विधायकों की सदस्यता को ठहराया अयोग्य

ऑफिस ऑफ प्रॉफिट के मामले में दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को चुनाव आयोग ने अयोग्य ठहराया है। इस मामले में चुनाव आयोग ने अपनी रिपोर्ट राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भेज दी है। इन विधायकों को संसदीय सचिव बनाए जाने के बाद से ही इनकी सदस्यता पर खतरा मंडरा रहा था।

राष्‍ट्रपति कोविंद अगर चुनाव आयोग के फैसले पर अपनी मुहर लगा देते हैं, तो ऐसे में आम आदमी पार्टी के इन 20 विधायकों की सदस्‍यता रद्द हो जाएगी। लेकिन इससे बचने और सही न्याय के लिए आम आदमी पार्टी ने कोर्ट का रुख कर लिया है।

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कमेंट में छोड़े

Close